बच्चो मे फ्लू का टीका : यह बहुत जरुरी है

बच्चो को और टीको के साथ साथ फ्लू का टीका भी बहुत जरुरी होता है. इन्फ़्लुएन्जा (फ्लू) स्वसन प्रणाली का एक संक्रमण है जो इन्फ़्लुएन्जा वायरस के कारण होता है. ज्यादातर 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चो को यह फ्लू होता है .


बच्चो को फ्लू का टीका फ्लू वायरस के खिलाफ सबसे अच्छा बचाव साबित हुआ है. इस प्रकार यह दुसरो को फैलने से रोकता है.फ्लू वेक्सीन का उपयोग करके, फ्लू की बिमारियो और मृत्यु दर को रोका जा सकता है.


बच्चो के लिये फ्लू वेक्सीन क्यू जरुरी है?


बच्चो मे सामान्य सर्दी के मुकाबले इन्फ़्लुएन्जा ज्यादा खतरनाक है. प्रत्येक वर्ष लाखो बच्चे फ्लू से बिमार होते है.हजारो अस्पताल मे भर्ती होते है और कुछ लोग फ्लू कि वजह से मर जाते है. ज्यादातर छोटे बच्चे इसका शिकार होते है. टोडलर्स, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले बच्चे, और गर्भवती महिलाओ को निमोनिया जैसे इन्फ़्लुएन्जा का शिकार होते है.


टीका करण आजतक फ्लू से बचाव के लिये सबसे अच्छां तरीका है. लगभग 50-60% बच्चो को जिनको टीका करण किया गया है, उनमे फ्लू का खतरा कम होता है.


फ्लू का टीका कब लगाये?


सेंटर फोर डीजीस कंट्रोल अंड प्रेवेनसन (सीडीसी), 6 महिने और उससे अधिक उम्र के सभी लोगो के लिये इन्फ़्लुएन्जा टिके की सिफारिश करता है.जिसमे बच्चे से लेकर किशोर तक शामिल है. 6 महिने से छोटे बच्चे इस टिके के लिये पर्याप्त नही है.5 वर्ष से कम उम्र के सभी बच्चो के लिये यह टीका अनिवार्य है. हर साल इन्फ़्लुएन्जा वायरस के उपभेदो की संरचना का आकलन करने के बाद वेक्सीन की रचना हर साल बदल दी जाती है.फ्लू के वायरस लगातार विकसित होते है.और इसलिये टिके को अधिक प्रभावशाली बनाया जाता है.


बच्चो मे इन्फ़्लुएन्जा का टीका :

आयु  वेक्सीन की खुराक पहले और बाद मे टीका करण 
6-35 महिने  2 डोस (0.
5ml)
2 खुराक 
3-8 साल 0.5ml 2 खुराक
9 साल से उपर   1 खुराक

 

फ्लू का टीका कहा से लगाये:


यह बाल चिकित्सालय मे उपलब्ध होते है.लेकीन अगर आप कही और से टीका लगाना चाहते है तो निम्लिखित विकल्प पर ध्यान दे:

 

  • आपका स्थानीय या राजस्व स्वाथ्य विभाग एक अच्छा विकल्प है.
  • फार्मासिस्ट, किराने की दुकान, सामुदायिक केंद्र, मंदिर, स्कूल, और अन्य स्थान कभी कभी वेक्सीनेशन के लिये कॅम्प लगाते है.
  • फ्लू के टिके के बारेमे विज्ञापनो और नोटीस के बारे मे सतर्क रहे.
  • फ्लू के टिके इतने मेहेंगे नही है लेकीन अधिकांश बीमा योजनाये बच्चो के लिये बचपन की प्रतिरक्षा को कवर करती है.

 

इन्फ़्लुएन्जा वेक्सीन का प्रकार कोई मायने नही रखता है लेकीन सुनिश्चित करे कि आप अपने बच्चे को फ्लू का टीका लगाये क्युकी ये 4 वर्ष से कम आयु के बच्चो मे फैलता है. फ्लू का टीका अन्य टीको के साथ भी दिया जा सकता है. लेकीन शरीर मे अलग साइड पर. बच्चो मे फ्लू के वेक्सीन मतली,थकान, सरदर्द, मास्पेसियो मे दर्द, हल्के इफेक्ट हो सकते है. लेकीन यह गंभीर समस्या नही है ,यह लक्षण खुद ठीक हो जाते है.यह गारनटी नही है कि फ्लू के टीके के बाद आपके हो को फ्लू कभी भी नही होगा लेकीन यह आश्वासन है कि टीका करण वाले बच्चे को गंभीर फ्लू नही होगा.

 

यह भी पढ़ें: अवरुद्ध आँसू वाहिनी - लक्ष्ण, कारण एवं उपचार

 

#childhealth

Baby, Toddler

शिशु की देखभाल

Leave a Comment

Comments (2)



dilip singh

डॉक्टर साहब , मेरे बाल रोग विशेषज्ञ ने मेरे बच्चे को फ्लू का टीका लगवाने से मना कर दिया। कहा इसे हर वर्ष लेना पड़ेगा इसका क्या फायदा। कृपया सलाह दें कि ये बात सही है।

Asmita Kumari

इससे मुझे बहुत मदद मिली!

Recommended Articles