स्थानिक जागरूकता : एक आवश्यक जीवन कौशल

cover-image
स्थानिक जागरूकता : एक आवश्यक जीवन कौशल

एक STEM शिक्षक के रूप मे,मै अक्सर इन बुनियादी कौशलो मे बच्चो को पिछडता हुआ पाती हु. यह कौशल शिक्षा उपेक्षित क्षेत्र मे आते है, जबकी इन्हे उच्च सूची मे आण चाहिये.


निम्नलिखित कुछ वजह है कि मुझे विश्वास है कि हमे प्रारंभिक वर्षो के दोरान स्थानिक जागरूकता पर अधिक से अधिक जोर देनेकी आवश्यकता है.


१. रोज के जीवन मे इन मानसिक कौशल कि अतिआवशयकता होती है.हम किंडेरगारटन से अपेक्षा करते है कि वे अपने क्लासरूम का रस्ता खोजे, अपने जूते ठीक ढंग से पेह्ने, खुदको आईने मे देख कर अपने बालो को कन्घी करे और भी अन्य कार्य खुद से कर ले.यह सब बच्चे के लीये बिना किसी स्थानिक तर्क के कठीन होगा.


२. स्थानिक जागरूकता कौशल बढाने के लिये एक उपाय है. उदाहरण के लिये किंडेरगारटन से कमसे कम चार चित्र या आकर्तीया पह्चानने और उनका नाम याद करने की उम्मीद की जाती है. वर्त ,वर्ग .त्रिकोण, और आयात .


३. अनुसंधान कहता है कि ये कौशल गणित और विज्ञान मे सफलता के लिये बहुत महत्त्वपूर्ण है और गणित मे अन्य मोखिक और गणित कौशल की तुलना मे सफलता के एक बेहतर भविष्यवक्ता है.शुरुवात मे स्थानिक क्षमता भविष्य पढने के कौशल का एक भविष्यवक्ता है.


४. स्थानिक तर्क बच्चे की स्तिथी,दशा, दिशा और आंदोलन की भावना के निर्माण मे अति आवश्यक है.

 

ये कारण स्थानिक तर्क को अनदेखा करना मुश्कील बना देते है .अगला कदम यह होना चाहिये कि जीवन कौशलो को कैसे विकसित किया जाये. जितने वे जरुरी है ,उन्हे विकसित करना उतना मुश्किल नही है. सरल, सीख देने वाले खिलोने, और गतिविधिया काम कर सकती है. यहा देखे कैसे :


सही शब्दो का उपयोग करे:

अपने बच्चे को उपर, नीचे, बाहर, अंदर, ऐसे स्थानिक शब्दो से अवगत कराये .जब हम स्थानिक शब्दो के लिये सही शब्दो का उपयोग करते है तो यह समझना और भी आसान हो जाता है.जैसे कि आप ने बच्चे को दाराज से नेपकिन लाने को कहे .उसे तिसरे दराज से नेपकिन लाने को कहे.इसी तरह उसे अपनी पेंट की बाई जेब मे अपना रुमाल रखने के लिये कहे.


पहेलिया खेले:

यह उपाय स्थानिक कौशल मे बहुत महत्वपूर्ण है. तस्वीर को देखकर और लापता तुकडो को खोजने के लिये बच्चे को प्रोह्त्साहित करे. यदि बच्चा तुकडो को खोजने के लिये तस्वीर को नही देख रहा है तो वह ऐसे आकार की तलाश मे है जो किसी दिये गये चित्र मे फिट हो सके. इन कौशल को बढाने के लिये ब्लोक खेल खेलना एक बढीया तरीका है.


शेप वाले गेम खेले:

बच्चो को यात्रा के दौरान व्यस्त रखने के लिये यह बहुत बढीया तरीका है ,उन्हे आयातो को लगाने को कहे जो एक जैसे दिखते है.उन्हे आयातकार खिडकी और आयातकार इमारत के बीच का अंतर समझाने मे मदद करे.


ब्लोको मे व्यस्तता:

स्थानिक कौशल बढाने के लिये ब्लोक बढीया उपकरण है. ब्लोको का उपयोग करके बच्चे को टावरो, आकार्तियो के निर्माण के लिये प्रोत्साहित करे.


मानचित्र कार्य :

सरल गतिविधिया जैसे कि आपके बच्चे को उसके कमरे की फोटो खीचने को कहे और फर्निचर को व्यवस्थित करने को कहे और नक्शा को समझने के लिये मदद करे .इसी तरह पार्क मे अपने बच्चे को झुला क्षेत्र तक जाने का रस्ता पूछे.
स्थानिक कौशल के बारे मे सबसे बढीया बात यह है कि बच्चो को पोषित एवं सम्मानित किया जा सकता है . इसमे जीन पूल या लिंग द्वारा निर्धारित कुछ नही है. आपको केवळ पर्याप्त अवसर और अभ्यास देने की जरुरत है.

 

यह भी पढ़ें: जानिए... ग्रास मोटर स्किल्स बच्चो के विकास मई कैसे मदतगार साबित होता है

 

#babychakrahindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!