5 डे चैलेंज अपनी पैरेटिंग को बदलने के लिए

cover-image
5 डे चैलेंज अपनी पैरेटिंग को बदलने के लिए

बच्चे अपने अपने माता-पिता से बहुत कुछ सीखते है। पैरेट्स को भी बच्चों से सीखने को काफी कुछ मिलता है। लेकिन क्या बच्चों के लिए हमें अपनी पैरेटिंग बदलनी चाहिए। हम अपने बच्चों को कैसे परवरिश दे रहे है उसमें बदलाव करने की जरूरत है।

 

आप कैसे जाने की आपको अपनी पैरेटिंग बदलने की जरूरत है

  • अगर बच्चा आपकी हर बात से चिढ़ता हो।
  • बच्चा बहुत ज्यादा जिद्दी हो।
  • अगर बच्चे अपने दोस्तों के सामने आप से सही तरीके से बात नहीं करे।
  • मां और पिता में से बच्चा किसी के बहुत ज्यादा करीब हो जाए। बच्चा या तो मां के बहुत करीब रहे या फिर पिता के बहुत नजदीक।
  • बच्चों आपको यह एहसास दिलाए कि आप उसकी लाइफ में दखलअंदाजी कर रहे है। यही से आपको जरूरत है अपनी पैरेटिंग को बदलने की।

 

पहला दिन

बच्चों को उनके हर काम के लिए स्वतंत्र करे। चाहे वह सारा दिन टीवी देखना है, खेलना हो जो मन करे वह कर देने। आप एकदम शांत रहे बच्चों को यह एहसास ही नहीं होने, दे कि आप उनके सामने है।

 

दूसरा दिन

दूसरे दिन बच्चों से सुबह उठते ही बहुत प्यार से गुड मॉर्निंग बोले। अपने बच्चे को बताएं कि हम कुछ समय के लिए घर से बाहर जा रहे है। आप घर पर रहो आराम से जो मर्जी हो करो। यह घर आपका है हम कोई रोका टोकी नहीं करेगी। ऐसा नहीं कि आप बच्चे को अकेले छोड कर जाए। आप अपने पडोसी के घर जाए ताकी आप बच्चे पर नजर रखे। कुछ मिनट बाद एकदम से घर की बेल रिंग करे। फिर अपने बच्चे का रिएक्शन देखें।

 

तीसरा दिन

बच्चों को उनकी पसंद की सारी शापिंग कराए लेकिन एक बजट सेट करे। कि तुम्हे जो मर्जी है वो खरीदों लेकिन इतने ही बजट में।

 

चौथे दिन

बच्चों को वह खाने को दे जो बच्चे खाने में आनाकानी करते है। जैसे कि ग्रीन वेजिटेबल, दाल राइस पूरा दिन सिर्फ हेल्दी खाने को दे। यह भी कहे कि इसके अलावा कुछ भी खाने को नहीं मिलेगा।

 

पांचवा दिन

पांचवें दिन बच्चे से कुछ देर बात नहीं करे। बल्कि बच्चों को मौका दे कि, वह स्वयं पूछे कि मां पापा आप ऐसा क्यों कर रहे हो। बच्चे को एहसास होगा कि कुछ तो अलग हो रहा है। शायद बच्चे उस तरह से आपके ऊपर चिल्लाएं नहीं है। हो सकता है कि सारी बात नहीं माने लेकिन कुछ बात जरूर मानेंगे। क्योंकि आजकल के बच्चों को समझाना आसान नहीं है। इसलिए ऐसे चैलेंज कभी कभी खुद को देने पडते है।
इन पांच दिनों के पैरेटिंग चैलेंज में आपको बच्चे के अंदर काफी परिवर्तन देखने को मिलेगा। आपके लिए तो यही चैलेंज है कि आपको यह करना पड़ेगा जो आप नहीं करना चाहते है।

बच्चों को बदलना इतना आसान नहीं है लेकिन हमें स्वयं की पैरेटिंग को बदलना होगा। इस चैलेंज को आप सिर्फ एक बार नहीं बल्कि कई बार अपनाए। क्योंकि पैरेंटिंग के इस सफर में आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

#balvikas
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!