• Home  /  
  • Learn  /  
  • डिलीवरी के बाद ठंडा पानी पीना चाहिए या गर्म पानी?
डिलीवरी के बाद ठंडा पानी पीना चाहिए या गर्म पानी?

डिलीवरी के बाद ठंडा पानी पीना चाहिए या गर्म पानी?

16 Feb 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

डिलीवरी के बाद महिलाओं को खान-पान के साथ ही पानी की मात्रा पर भी गौर करना चाहिए। जी हां, इस समय पर्याप्त ब्रेस्ट मिल्क उत्पादन और शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए अधिक-से-अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन इस दौरान यह सवाल उठता है कि डिलीवरी के बाद ठंडा पानी पीना चाहिए या गर्म। इसी दुविधा को दूर करने के लिए हम इस लेख में बताएंगे कि डिलीवरी के बाद किस तरह का पानी पीना चाहिए। साथ ही यहां ठंडे व गर्म पानी पीने के फायदे भी बताए गए हैं।

डिलीवरी के बाद कैसा पानी पीना चाहिए, ठंडा या गर्म?

प्रसव के पहले दिन से ही महिलाओं को गर्म (गुनगुना) पानी व अन्य पेय पीने की सलाह दी जाती है। माना जाता है कि प्रेग्नेंसी और डिलीवरी के बाद महिला को गर्म पानी पीने देना, उसके सेहत के नजरिये से ठीक होता है। इस समय महिलाओं को करीब 10 से 12 गिलास तक गुनगुना पानी का सेवन करने की सलाह दी जाती है। दरअसल, पानी को गर्म करने पर उसमें मौजूद बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। इससे प्रसूता को संक्रमण के जोखिमों से भी बचाया जा सकता है। साथ ही गुनगुना गर्म पानी पीने के फायदे अनेक हैं, जिनका जिक्र हम नीचे करेंगे।

डिलीवरी के बाद गर्म पानी पीने के फायदे

warm water after pregnancy

डिलीवरी के बाद गुनगुना/गर्म पानी पीने के फायदे अनेक हैं। इन्ही फायदों की वजह से प्रसव के बाद गुनगुना पानी पीने की सलाह दी जाती है। लेख में आगे बढ़ते हुए जानिए डिलीवरी के बाद गर्म पानी पीने के फायदे क्या हैं।

कब्ज से राहत – प्रसव के शुरूआती दिनों में कब्ज की समस्या होना काफी आम है। इस शिकायत को दूर करने में गर्म पानी सहायक साबित हो सकता है। इस बात को प्रमाणित करने के लिए किए गए अध्ययन के मुताबिक, गर्म पानी खाने को जल्दी पचाकर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इससे कब्ज की समस्या से राहत मिलती है और मल त्यागने की प्रक्रिया भी आसान हो जाती है।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है – प्रसव के बाद गर्म पानी पीने के लाभ रक्त संचार पर भी देखे जा सकते हैं। दरअसल, गर्म पानी के सेवन से शरीर की रक्त वाहिकाएं (Blood vessels) फैलती हैं, जिससे पूरे शरीर में रक्त संचार बेहतर तरीके से होता है। साथ ही गर्म पानी पीने के बाद शरीर से पसीना निकलता है। माना जाता है कि इससे बॉडी डिटॉक्सिफाई भी होती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है – डिलीवरी के बाद कई महिलाएं जल्दी बीमार हो जाती हैं, क्योंकि इस समय उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। इस प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में गुनगुना पानी सहायता कर सकता है। एक रिसर्च की मानें, तो गुनगुना पानी कई समस्याओं को दूर कर इम्युनिटी को मजबूत कर सकता है। इस समय गुनगुना पानी के सेवन के साथ ही इससे नहाना भी अच्छा माना गया है।

दर्द से राहत – प्रसव के कुछ दिनों तक महिला को दर्द रहता है। इस दर्द को कम करने में भी गर्म पानी पीने के फायदे देखे जाते हैं। इस पानी के जरिए शरीर में प्रवेश होने वाली गर्मी दर्द से राहत दिला सकती है। साथ ही दर्द को कम करने के लिए गर्म पानी से सिकाई करने की भी सलाह दी जाती है।

वजन कम करने में सहायक – डिलीवरी के बाद महिलाओं को अपना वजन कम करना और पुरानी बॉडी शेप में आना चुनौती लगता है। इस चुनौती को आसान बनाने में गर्म पानी मदद कर सकता है। एक शोध में बताया गया है कि गुनगुने पानी पीने से शरीर में थर्मोजेनिक यानी गर्मी उत्पादन करने वाली प्रतिक्रिया होती है। इससे मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है और वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

डिलीवरी के बाद गर्म पानी पीने के नुकसान

Water after delivery

डिलीवरी के बाद गर्म पानी पीने के फायदे के साथ ही गर्म पानी के नुकसान भी हो सकते हैं। गर्म पानी के नुकसान में ये शामिल हैं –

  • पानी बहुत ज्यादा गर्म हो, तो जीभ जल सकती है।
  • कुछ मामलों में गर्म पानी पीने से रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट यानी श्वसन तंत्र को नुकसान हो सकता है।
  • गर्म पानी के नुकसान अन्नप्रणाली पर भी दिख सकते हैं। दरअसल, पानी के ज्यादा गर्म होने पर अन्नप्रणाली जल सकती है।

क्या डिलीवरी के बाद ठंडा पीना बिल्कुल नहीं पीना चाहिए?

गर्मियों के मौसम में डिलीवरी हुई है और शरीर काफी गर्म लग रहा है, तो एक गिलास ठंडा पानी पी सकते हैं। अगर डिलीवरी के बाद ज्यादा ठंडा पानी अधिक मात्रा में पिया जाए, तो कुछ इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

  • डिलीवरी के बाद ज्यादा ठंडा पानी बार-बार पीने से सर्दी-जुकाम होने का खतरा रहता है।
  • प्रसूता का गला भी ठंडे पानी पीने से बैठ सकता है।
  • प्रसव के बाद ठंडा पानी पीने से शरीर का फैट बढ़ सकता है।
  • शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलने में कठिनाई हो सकती है।
  • डिलीवरी के बाद की रिकवरी धीमी हो सकती है।

क्या प्रसव के बाद ठंडा पानी पीने के लाभ होते हैं?

प्रसव के बाद गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है। हां, अगर प्रसव के बाद ज्यादा बॉडी हीट हो रही है, तो ठंडा पानी पीने के लाभ हो सकते हैं। ठंडा पानी शरीर में पैदा होने वाली अधिक गर्मी को कुछ देर के लिए शांत कर सकता है। बस ध्यान दें कि ज्यादा ठंडा पानी इस दौरान नहीं पीना चाहिए। संभव हो, तो सामान्य तापमान वाले पानी को तरजीह दें।

प्रसव के बाद ठंडा पानी कब पी सकते हैं?

डिलीवरी के बाद जब शरीर पूरी तरह से हील हो जाए, तो ठंडा पानी पी सकते हैं। अंदाजन प्रसव के तीन से चार महीने के बाद ठंडा पानी पी सकते हैं। हां, अगर बहुत गर्मी लग रही हो, तो तीन महीने से पहले भी कभी-कभी ठंडा पानी पी सकते हैं। बस बर्फ वाला और बहुत ज्यादा ठंडा पानी पीने से बचें। साथ ही इसकी मात्रा को आधे गिलास तक ही सीमित रखें।

प्रसव के बाद पानी पार्यप्त मात्रा में पीना जरूरी होता है। इसके लिए गुनगुना पानी का चयन बेहतर होगा। गुनगुना पानी शरीर को कई बीमारियों से दूर रखने में मदद कर सकता है। ध्यान रहे कि पानी बहुत ज्यादा गर्म न हो। पानी के ज्यादा गर्म होने पर मुंह जलने का जोखिम बना रहता है। अगर प्रसव के कुछ दिनों बाद ठंडे पानी पीने का मन करे, तो थोड़ा ठंडा पानी पी सकते हैं। साथ ही इस विषय पर एक बार डॉक्टर से भी बात करें, क्योंकि प्रसव के दौरान और बाद में महिला के शरीर में हुए बदलावों के आधार पर विशेषज्ञ सटीक सलाह दे पाएंगे।

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop