• Home  /  
  • Learn  /  
  • क्या गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन लेना सुरक्षित है?
क्या गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन लेना सुरक्षित है?

क्या गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन लेना सुरक्षित है?

16 Feb 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 279 Articles

कोरोनावायरस से बचाव में कोविड-19 वैक्सीन को कारगर माना गया है। क्या अन्य लोगों की ही तरह गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित है? इसके अलावा, क्या स्तनपान करा रहीं माताएं भी कोरोनावायरस का टीकाकरण करा सकती हैं? प्रेग्नेंसी में कोविड-19 वैक्सीन से जुड़े ऐसी ही कई सवाल हैं, जिनके बारे में हम यहां पर बता रहे हैं। इसे विस्तार से समझने के लिए अंत तक बने रहें हमारे साथ। 

कोविड-19 वैक्सीन क्या है?

भारत में कोरोनावायरस से लड़ने के लिए दो टीकाकरण बनाया गया है, जिसमें कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxin) शामिल है। कोरोनावायरस के लिए कोविशील्ड वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) और कोवैक्सीन को भारत बायोटेक लिमिटेड (Bharat Biotech Limited) द्वारा बनाया गया है। 

कोरोनावायरस से बचाव के लिए इन दोनों ही वैक्सीन को भारत में सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) की तरफ से मान्यता मिली है।  

गर्भवती महिलाओं में कोविड-19 होने का खतरा कब सबसे अधिक है?

निम्नलिखित स्थितियों में गर्भवती को कोविड-19 होने का खतरा अधिक बढ़ सकता है, जिसमें  शामिल हैः 

  • गर्भवती की उम्र 35 व उससे अधिक हो
  • गर्भवती महिला मोटापे से ग्रस्त हो
  • गर्भवती महिला को डायबिटीज या उच्च रक्तचाप जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हो
  • गर्भवती महिला को क्लोटिंग यानी खून के थक्के बनने की बीमारी हो 

क्या गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) सुरक्षित है?

यह सबसे अहम सवाल है कि क्या गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित है! इसके अलावा स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य पर कोरोनावायरस का टीकाकरण किस तरह का प्रभाव कर सकता है, यह भी हम जानेंगे। 

इस पर जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार ने उचित गाइडलाइन जारी की है। इसमें बताया गया है कि उपलब्ध कोविड-19 वैक्सीन गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित हो सकती है। प्रेग्नेंसी में कोविड-19 वैक्सीन लगाने से गर्भवती महिला या गर्भ में पल रहे भ्रूण के स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव होने की संभावना अभी तक नहीं रिकॉर्ड की गई है। 

इसी वजह से गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित मानी गई है। ध्यान रखें कि अगर गर्भवती महिला को पहले से ही कोई अन्य स्वास्थ्य संबंधी परेशानी है, तो प्रेग्नेंसी में कोरोना की वैक्सीन लेने से पहले उसे अपने डॉक्टर की उचित सलाह लेनी चाहिए। 

प्रेग्नेंसी में कोविड-19 वैक्सीन लगाने के बाद दिखने वाले सामान्य दुष्प्रभाव

जिस तरह अन्य टीकाकरण कराने से कुछ सामान्य लक्षण नजर आते हैं, उसी तरह गर्भावस्था में कोविड-19 वैक्सीन लगाने के बाद भी गर्भवती महिला में कुछ सामान्य लक्षण नजर आ सकते हैं, जैसेः 

  • हल्का बुखार होना
  • इंजेक्शन वाली जगह पर सूजन या दर्द होना
  • बदन दर्द होना
  • 1 से 3 दिनों तक अस्वस्थ महसूस करना 

हर 5 से 1 गर्भवती महिला को प्रेग्नेंसी में कोरोना की वैक्सीन लगाने के बाद, इसके हल्के लक्षण नजर आ सकते हैं। अगर प्रेग्नेंसी में कोविड-19 वैक्सीन लगाने के बाद महिला अन्य लक्षण महसूस करती है या लक्षण गंभीर होते हैं, तो उसे तुंरत डॉक्टर को इस बारे में बताना चाहिए। 

कोरोनावायरस का टीकाकरण कराने के गंभीर दुष्प्रभाव 

कोरोनावायरस का टीकाकरण कराने के गंभीर दुष्प्रभाव के लक्षण अगले 20 दिनों के अंदर दिखाई दे सकते हैं, जैसेः  

  • सांस लेने में कठिनाई होना
  • सीने या छाती में मध्यम या तेज दर्द होना
  • लगातार उल्टी होना व पेट में दर्द होना
  • हाथ-पैर में तेज दर्द होना, जिस वजह से सामान्य कार्य प्रभावित हो रहे हो
  • इंजेक्शन वाली जगह व आस-पास पर लाल रंग के दाने होना
  • दौरा पड़ना
  • धुंधला दिखाई देना
  • शरीर के किसी अंग का अचानक से कमजोर होना 

ऊपर बताई गई स्थितियां गंभीर है। अगर प्रेग्नेंसी में कोरोना की वैक्सीन लगाने के बाद इनमें से कोई भी लक्षण गर्भवती महिला में दिखाई देते हैं, तो तत्काल प्रभाव से उसे डॉक्टर के पास जाना चाहिए। 

गर्भावस्था में कोविड-19 वैक्सीन लगाने के लिए किन बातों का रखें ध्यान 

गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन कोरोनावायरस से बचाव करने में मदद कर सकती हैं। इसका ध्यान रखना चाहिए कि कोरोनावायरस का टीकाकरण कराने के बाद भी उन्हें कोरोना गाइडलाइन को फॉलो करना चाहिए, जैसेः 

  • मास्क व डबल मास्क का इस्तेमाल करना
  • नियमित रूप से हाथों की सफाई करना
  • सार्वजनिक स्थानों पर दो गज की दूरी को बनाकर रखना
  • अस्वस्थ्य महसूस होने पर घर में खुद को क्वारंटाइन करना 

किसी गर्भवती महिला को कोविड-19 पहले हो चुका है, तो उसे कब कोविड-19 वैक्सीन लगानी चाहिए? 

अगर किसी किसी गर्भवती महिला को कोविड-19 पहले हो चुका है, तो उसे सबसे पहले अपनी स्वास्थ्य की रिकवरी पर ध्यान देना चाहिए। इस दौरान डॉक्टर द्वारा निर्देशित दवा का कोर्स पूरा करना चाहिए। वे शिशु के प्रसव के बाद स्वस्थ महसूस करने के तुरंत बाद कोविड-19 वैक्सीन लगवा सकती हैं। 

क्या कोविड-19 गर्भपात का कारण बन सकता है? 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के अनुसार, मौजूदा समय में कोविड-19 या कोरोनावयारस के जो भी वैरिंएट देखे गए है, उनसे गर्भपात के जुड़े मामले सामने नहीं आए हैं। साथ ही, गर्भावस्था में कोविड-19 होने का शिशु के स्वास्थ्य पर कैसा प्रभाव हो सकता है, इस पर अभी भी रिसर्च जारी है। अगर कोविड-19 होने पर गर्भवती महिला को सही उपचार न मिले, तो उसकी स्थिति नाजुक हो सकती है।

विभिन्न अध्ययनों व केस स्टडी के आधार पर यह कहा जा सकता है कि गर्भवती महिलाओं के लिए कोविड-19 वैक्सीन सुरक्षित हो सकती है। हालांकि, गर्भावस्था में कोविड-19 वैक्सीन लगाने से पहले महिला को अपने स्वास्थ्य से जुड़ी सारी जानकारी डॉक्टर को देनी चाहिए और डॉक्टर की देखरेख व उनकी सलाह पर ही प्रेग्नेंसी में कोरोना की वैक्सीन लगानी चाहिए।

#momhealth #garbhavastha #careerduringpregnancy #pregnancymustknows

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop