• Home  /  
  • Learn  /  
  • बच्चों के टैल्क पाउडर में क्या नहीं होना चाहिए?
बच्चों के टैल्क पाउडर में क्या नहीं होना चाहिए?

बच्चों के टैल्क पाउडर में क्या नहीं होना चाहिए?

6 Jun 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 554 Articles

बच्चे का टैल्क पाउडर चुनना कोई आसान काम नहीं है। वो भी तब जब बाजार में हजारों बेबी टैल्क पाउडर मौजूद हों। इसलिए, हम आपको जागरूक करने के मकसद से यह जानकारी लेकर आए हैं कि बच्चों के टैल्क पाउडर में क्या नहीं होना चाहिए। आगे हम सभी हानिकारक सामग्रियों की लिस्ट और उनके दुष्प्रभाव के बारे में चर्चा करेंगे। चलिए, तो बढ़ते हैं लेख में आगे।

बच्चे के टैल्क पाउडर में क्या नहीं होना चाहिए?

यहां हम ऐसी खराब सामग्रियां बता रहे हैं, तो एक बच्चे के टैल्क में बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए। आगे विस्तार से इनके बारे में जानिए।

टैल्क (Talc )

टैल्क के छोटे-छोटे कण होते हैं, जो हवा में आसानी से उड़कर बच्चों के सांस के माध्यम से अंदर जा सकते हैं। इससे बच्चों में सांस लेने की दिक्कत और उनके फेफड़ों को नुकसान हो सकता है

दुखद यह है कि टैल्क से पूरी तरह कवर होने से कुछ बच्चों की मौत तक हुई है। हालांकि, यह मामले बहुत ही दुर्लभ हैं। यहां तक की टैल्क को ओवेरियन कैंसर को प्रेरित करने का कारण माना जाता है।

एस्बेस्टस (Asbestos)

एस्बेस्टस एक तरह के मिनरल फाइबर होते हैं। जब एस्बेस्टस सांस के माध्यम से अंदर जाते हैं, तो फेफड़ों में फंस सकते हैं और लंबे समय तक वहीं रहते हैं। समय के साथ, संचित एस्बेस्टस फाइबर ऊतक की सूजन और स्कार पैदा कर सकते हैं, जो श्वास को प्रभावित कर सकते हैं और गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकती है। इसे कैंसर पैदा करने वाला कंपाउंड भी माना जाता है।

ग्लूटेन (Gluten)

ग्लूटेन एक प्रोटीन है, जो स्वाभाविक रूप से गेहूं, जौ और राई सहित कुछ अनाजों में पाया जाता है। यह एक बाइंडर की तरह काम करता है। लेकिन, बच्चे की नाजुक त्वचा को ग्लूटन से एलर्जी हो सकती है। इसी वजह से बेबी पाउडर में ग्लूटेन नहीं होना चाहिए।

पैराबेन  (Paraben) 

पैराबेन्स रसायन होते हैं, जिन्हें उत्पादों को लंबे समय तक शैल्फ लाइफ देने के लिए प्रोडक्ट्स में उपयोग किया जाता है। पैराबेन्स श्वसन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। पैराबेन्स की वजह से कुछ बच्चों में अस्थमा की शिकायत के मामले सामने आए हैं। यही नहीं, हार्मोन सिस्टम के सामान्य कार्य को बाधित करने के लिए भी पैराबेन्स को जाना जाता है।

फेनोक्सीथेनॉल (Phenoxyethanol)

फेनोक्सीएथेनॉल भी एक तरह का प्रिजर्वेटिक है, जिसका उपयोग कई टैल्क में होता है। इससे गुलाब जैसी खुशबू भी आती है। लेकिन इसका उपयोग प्रोडक्ट में करना सही नहीं है। अधिकांश चिंता शिशुओं के उत्पाद संबंधी है, क्योंकि इससे त्वचा पर खराब प्रतिक्रिया होने से लेकर नर्वस सिस्टम इंटरेक्शन का खतरा रहता है। यही नहीं, फेनोक्सीथेनॉल से एनाफिलैक्सिस जैसे गंभीर एलर्जिक रिएक्शन और कॉन्टेक्ट अर्टिकेरिया होने का डर रहता है। 

जीएमओ (GMO)

जीएमओ, आनुवंशिक रूप से संशोधित ऑर्गेनिज्म (जेनेटिकली मॉडिफाइड ऑर्गेनिज्म) है। यह किसी भी जीव को संदर्भित करता है, जिसका डीएनए जेनेटिक इंजीनियरिंग तकनीक से संशोधित किया गया है। माना जाता है कि जीएमओ युक्त पदार्थ एलर्जी का कारण बन सकते हैं व एलर्जी को ट्रिगर कर सकते हैं।

कृत्रिम सुगंध और रंग

आर्टिफिशियल कलर और फ्रेग्नेंस का इस्तेमाल भी बेबी प्रोडक्ट के लिए अच्छा नहीं होना चाहिए। एलर्जिक रिएक्शन, जलन, लालिमा और सूजन हो सकती है। इन्हें नाजुक त्वचा का दुश्मन माना जाता है।  यहां तक कि इनका शरीर पर खतरनाक प्रभाव पड़ता है, क्योंकि ये शरीर में जमा हो सकते हैं।

बच्चों के टैल्क पाउडर को कैसे चुनें

बच्चों के लिए 100% प्राकृतिक और टैल्क फ्री पाउडर चुनें। ऐसा टैल्क पाउडर, जो डर्मोटोलॉजिस्ट द्वारा टेस्टेड भी हो। अगर बेबी पाउडर को बाल रोग विशेषज्ञ की रेखदेख में बनाया गया है, तो यह सोने पर सुहागा होगा। आप बेबीचक्रा का टैल्क पाउडर खरीद सकते हैं, यह पूरी तरह प्राकृतिक और टैल्क फ्री है।

अच्छा टैल्क पाउडर नमी को बरकरार रखते हुए त्वचा की रक्षा करता है और डायपर रैशेज को भी रोकता है। आप डायपर रैश क्रीम के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं।

बच्चे को टैल्क पाउडर कैसे लगाएं? 

बच्चे को टैल्क पाउडर लगाने का सही तरीका आगे समझिए 

  • टैल्क लगाने से पहले बच्चे की त्वचा को थपथपाकर अच्छे से सुखाएं।
  • फिर अपने हाथों पर जरूरत के अनुसार पाउडर लें।
  • अब बच्चे के स्किन पर धीरे से पाउडर लगाएं।
  • आप बच्चे की स्किन पर उसे नहलाने के बाद या नैपी बदलती समय पाउडर लगा सकते हैं।

बच्चों के टैल्क पाउडर से जुड़ी सावधानियां

बच्चे के लिए अच्छा टैल्क पाउडर इस्तेमाल करते समय भी कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी है। क्या हैं बेबी टैल्क पाउडर से संबंधी सावधानियां लेख में आगे जानें। 

  • इसे बच्चे की पहुंच से दूर रखें।
  • पाउडर को बच्चे की आंख, मुंह और नाक के हिस्से से दूर रखें।
  • पाउडर से एलर्जी या जलन होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  •  पाउडर को बच्चे के नाक और मुंह से दूर रखें, ताकि वो इसे इन्हेल न कर सके।
  • यदि बच्चे की त्वचा पर पाउडर लगाने के बाद जलन के लक्षण दिखाई दें, तो उपयोग बंद कर दें।
  • बेबी पाउडर को सीधे जननांगों पर लगाने से बचें। इसके बजाय, जननांगों और पैरों के आसपास की त्वचा पर धीरे से एक हल्की परत थपथपाएं।

बच्चे के टैल्क पाउडर में मौजूद खराब सामग्रियों की इस लिस्ट को देखकर आप अपने बेबी के लिए एक सुरक्षित टैल्क पाउडर खरीद सकती हैं। 

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop