• Home  /  
  • Learn  /  
  • कंडोम के प्रकार कितने हैं? प्रेग्नेंसी के दौरान किस प्रकार के कंडोम का इस्तेमाल सेफ है?
कंडोम के प्रकार कितने हैं? प्रेग्नेंसी के दौरान किस प्रकार के कंडोम का इस्तेमाल सेफ है?

कंडोम के प्रकार कितने हैं? प्रेग्नेंसी के दौरान किस प्रकार के कंडोम का इस्तेमाल सेफ है?

26 Apr 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 406 Articles

मौजूदा समय में लोग कंडोम का इस्तेमाल न सिर्फ गर्भनिरोधक के रूप में करते हैं, बल्कि यौन संचारित रोगों से बचाव करने, सेक्स का आनंद बढ़ाने से लेकर सेक्स टाइम को बढ़ाने के लिए भी करते हैं। वजह है मार्केट में कंडोम के प्रकार। आज मार्केट में कंडोम के विभिन्न प्रकार उपलब्ध हैं। जो न सिर्फ अलग-अलग फ्लेवर के होते हैं, बल्कि अगल-अलग मौके के अनुसार भी जाने जाते हैं। 

यही खास वजह है कि इस लेख में आप न सिर्फ कंडोम के प्रकार पढ़ेंगे, बल्कि सबसे अच्छा वाला कंडोम कौन-सा है? सबसे महंगा कंडोम कौन-सा है? कंडोम का इस्तेमाल कैसे होता है? जैसे खास सवालों के जवाब के बारे में भी पढ़ेंगे। 

कंडोम के प्रकार : कंडोम कितने प्रकार के होते हैं व कंडोम के फायदे हिंदी में 

इस भाग में हम मौजूदा कंडोम के प्रकार व अलग-अलग प्रकार के कंडोम के फायदे हिंदी में बता रहे हैं, जो निम्नलिखित हैंः 

कंडोम के प्रकार
फ्लेवर कंडोम/ चित्र स्रोत: फ्रीपिक

फ्लेवर कंडोम (Flavored Condoms)

मार्केट में चॉकलेट से लेकर स्ट्रॉबेरी, एप्पल व विभिन्न टेस्ट वाले फ्लेवर कंडोम उपबल्ध हैं। ये न सिर्फ सेक्स टाइमिंग बढ़ाने वाले कंडोम हो सकते हैं, बल्कि फोरप्ले का टाइम भी बढ़ा सकते हैं। 

रेगुलर कंडोम (Regular Condoms)

अगर फैंसी कंडोम नहीं पसंद हैं, तो रेगुलर कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें किसी तरह का स्वाद या सुगंध नहीं होता है। 

मोटे या थिक कंडोम (Thick Condoms)

कंडोम के प्रकार में शामिल थिक कंडोम सामान्य कंडोम के मुकाबले 20-30% मोटा होते हैं। ऐसा माना जाता है कि यह पुरुषों में सेक्स कमजोरी को काफी हद तक दूर करने में मदद कर सकते हैं। इसे सबसे महंगा कंडोम भी माना जा सकता है, साथ ही सेक्स कमजोरी वाले पुरुषों के लिए यह सेक्स टाइमिंग बढ़ाने वाले कंडोम की तरह भी काम कर सकते हैं।

पतले या थिन कंडोम (Thin Condoms)

कंडोम (निरोध) के नाम में अगला प्रकार शामिल है पतले कंडोम, लेकिन ऐसा न सोचें कि ये जल्दी फट जाते हैं। यह खासकर उन लोगों के लिए बनाया गया है, जिन्हें सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना पसंद नहीं होता है। 

लैटेक्स कंडोम (Latex Condoms)

लैटेक्स कंडोम भी सबसे महंगा कंडोम माना जा सकता है। इसकी खासियत है कि कंडोम के प्रकार में शामिल सभी कंडोम के मुकाबले यह सबसे अधिक फैलता है। 

डॉटेड कंडोम (Dotted Condoms)

डॉटेड कंडोम फ्लेवर व रेगुलर दोनों ही प्रकार में मिलता है। इसकी खासियत है कि इस कंडोम के ऊपरी भाग में छोटे-छोटे ऊभरे हुए दाने होते हैं। इसे भी सेक्स टाइमिंग बढ़ाने वाले कंडोम में भी शामिल किया जा सकता है। डॉटेड कंडोम दो प्रकार के आते हैं, जिनमें शामिल हैंः

  • डॉटेड कंडोम (Dotted Condoms)
  • एक्स्ट्रा डॉटेड कंडोम (Extra Dotted Condoms)

वार्मिंग कंडोम (Warming Condom)

वार्मिंग कंडोम के प्रकार में वार्मिंग लुब्रिकेंट होते हैं, जो सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान एक्टिव होकर सेक्स सेंसेशन को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। 

रिब्ड कंडोम (Ribbed Condom)

कंडोम के प्रकार में शामिल रिब्ड कंडोम को सेक्स की इंटेंसिटी बढ़ाने वाला माना जाता है। ऐसे कंडोम के इस्तेमाल से महिला साथी की उत्तेजना को बढ़ा सकते हैं। 

किस ऑफ मिंट कंडोम (Kiss of Mint Condom)

शारीरिक संबंध में ओरल सेक्स का रोह अहम होता है। ऐसे में फोरप्ले में किसी तरह की कमी न आए, इसके लिए किस ऑफ मिंट कंडोम के प्रकार का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी खासियत है कि प्रेग्नेंसी के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना है, तो इसका इस्तेमाल सुरक्षित माना गया है।

ग्लो-इन-द-डार्क कंडोम (Glow in The Dark Condom)

ग्लो-इन-द-डार्क कंडोम के प्रकार नॉन-टॉक्सिक कंडोम होते हैं। इसकी खासियत यह है कि यह अंधेरे में चमकते हैं। यह शारीरिक संबंध को उत्तेजित व फनी भी बना सकते हैं। 

टिंगग्लिंग कंडोम (Tingling Condom)

कंडोम के प्रकार में आखिरी जानकारी है टिंगग्लिंग कंडोम की। इसके इस्तेमाल से दोनों ही साथी झुनझुनी का अनुभव कर सकते हैं, जो उनकी उत्तेजनाओं को बढ़ा सकता है। 

कंडोम कैसे चुनें?

कंडोम कैसे चुनें, यह पूरी तरह से दोनों पार्टनर की पसंद व जरूरत के अनुसार हो सकता है। इसके अलावा, किसी भी प्रकार कंडोम खरीदे समय नीचे बताई गई बातों का ध्यान रख सकते हैं, जैसेः

कंडोम के फायदे
कंडोम/ चित्र स्रोत: फ्रीपिक
  • कंडोम का पैकेज खुला या फटा न हो। 
  • कंडोम के पैकेज पर दिए गए एक्सपायरी डेट की जांच करें। 
  • कंडोम बनाने में किस तरह के पदार्थ का इस्तेमाल किया है, इसे जानने के लिए पैकेज पर दी गई जानकारी को पढ़ें। अगर किसी सामग्री से एलर्जी है, तो उसे न खरीदें। 
  • प्रेग्नेंसी के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

कंडोम का इस्तेमाल कैसे करें?

कंडोम के प्रकार व अलग-अलग प्रकार के कंडोम के फायदे हिंदी में जानने के बाद अब पढ़ें कंडोम का इस्तेमाल कैसे किया जाता है।

  • सबसे पहले अच्छी गुणवत्ता का मनपसंद कंडोम चुनें। 
  • अब प्राइवेट पार्ट को पानी से साफ करें और उसे सूखा करें। 
  • कंडोम के पैकेज के किनारे से खोलें। पैकेज ओपन करने के लिए कैंची या दांत का इस्तेमाल न करें। 
  • अब कंडोम के टिप से पकड़े ताकि इसमें हवा न जाए। अब कंडोम को ओपन करते हुए पहनें।
  • अगर ऐसा करते समय कंडोम फट जाए, तो उसका इस्तेमाल न करें। नए पैकेज का इस्तेमाल करें। 
  • इसके अलावा, अगर शारीरिक संबंध बनाने के दौरान कंडोम फट जाता है या लिंग से निकल जाता है, तो ऐसी स्थिति में भी नए कंडोम का इस्तेमाल करें। फटे हुए व निकले हुए कंडोम का इस्तेमाल करना तुरंत बंद कर दें।
  • ध्यान रखें, कंडोम पहने समय लिंग के ऊपर किसी भी तरह का चिकनाई युक्त क्रीम, तेल या कोई दवा न लगाएं। न ही कंडोम पहनने के लिए उसके ऊपर लगाएं। 

तो इस लेख में आपने कंडोम के प्रकार व कंडोम के फायदे हिंदी में से लेकर, कंडोम का इस्तेमाल कैसे होता है व सबसे महंगा कंडोम कौन सा है इसके बारे में पढ़ें। एक बात का ध्यान रखें कि कंडोम कैसे चुनें या सबसे अच्छा वाला कंडोम कौन सा होता है, यह दोनों साथी की उत्तेजना, मूड व उनकी पसंद पर निर्भर कर सकता है। अगर ऐसा लगता है कि शारीरिक संबंध बनाने का समय बहुत कम है, तो ऐसे में सेक्स टाइमिंग बढ़ाने वाले कंडोम का इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, अगर सेक्स को रोमांचित बनाना है, तो सबसे महंगा कंडोम इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि ये कई तरह की खासियत से भरे हो सकते हैं। 

like

10

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop