• Home  /  
  • Learn  /  
  • स्कूल जाते बच्चों के लिए 5 इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स
स्कूल जाते बच्चों के लिए 5 इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स

स्कूल जाते बच्चों के लिए 5 इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स

9 Mar 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

माता-पिता के लिए बच्चों को संभालना आसान नहीं होता। इन्हें सही दिशा देते हुए बड़ा करना एक अहम जिम्मेदारी है। इसे पूरा करने में इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स मदद करते हैं। इसलिए बेबीचक्रा 5 इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स लेकर आया है। यहां दिए गए पेरेंटिंग टिप्स स्कूल जाते बच्चों के लिए कारगर साबित होंगे। इससे स्कूल जाते बच्चों को सही आदतें सिखाने, उन्हें अच्छे संस्कार देने और अच्छी परवरिश देने में मदद मिलेगी।

5 इफेक्टिव पेरेंटिंग टिप्स

पेरेंटिंग टिप्स स्कूल जाते बच्चों को सही राह देने के लिए जरूरी हैं। बस तो लेख में आगे बढ़ते हुए पढ़ें पेरेंटिंग स्टाइल्स इन हिंदी।

1. बच्चों के लिए नियम बनाएं

बच्चों के लिए उनकी पढ़ाई और खेल के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करना जरूरी है। इसके लिए एक टाइम टेबल बनाएं और उन्हें उसका पालन करने के लिए कहें। इससे उनमें डिसिप्लिन बना रहेगा। यही नहीं, पढ़ाई से उनका मानसिक विकास होगा और खेल-कूद से वो एक्टिव रहेंगे और शारीरिक विकास भी होगा। यह पेरेंटिंग टिप्स स्कूल जाते बच्चों के लिए काफी जरूरी है।

2. बुनियादी चीजें बताएं

बच्चों को बुनियादी ज्ञान यानी बेसिक नॉलेज दें। यह सबसे जरूरी पेरेंटिंग टिप्स फॉर स्कूल किड्स मानी जाती है। इसमें घुलना-मिलना, चीजें शेयर करना और अनजान व्यक्ति से दूर रहने की सलाह दे सकते हैं। साथ ही बड़ों को देखते ही उन्हें नमस्ते करना और किसी ने मदद की हो, तो उन्हें धन्यवाद कहना सिखाएं। यह पेरेंटिंग टिप्स स्कूल जाते बच्चों के लिए काफी सहायक साबित होगी। इससे वो अच्छी आदतें सीखेंगे और उनमें सही संस्कार आएंगे।

पेरेंटिंग टिप्स फॉर फैमिली
बच्चे के साथ इंजॉय करते पेरेंट्स /चित्र स्रोत – फ्रीपिक

3. पॉजिटिव पेरेंटिग को अपनाएं

पॉजिटिव पेरेंटिग भी बढ़ते बच्चों को संभालने और सही राह दिखाना का एक कारगर तरीका है। यह पेरेंटिग कोई रॉकेट साइन्स नहीं है। बस इसमें बच्चे को सकारात्मक तरीके से संभालना होता है। जैसे कि बच्चे को जोर से डांटने और फटकारने की जगह से प्यार से बातों को समझाना। अगर बच्चा पढ़ाई में कमजोर है या परीक्षा में कम मार्क्स लाता है, तो उसकी परेशानी को समझकर उसके डाउट्स को क्लियर करना।

इसके अलावा, दूसरे अच्छे बच्चों के गुण से अपने बच्चे की तुलना न करना। बल्कि उन्हें बताना कि कौन-से गुण उनमें होना जरूरी है, जिससे वो जीवन में अच्छा मुकाम हासिल कर पाएंगे। यही नहीं, बच्चे की बात-बात पर आलोचना न करना, उन्हें प्यार करना, उपहार देना, कभी खुद पेरेंट्स से गलती हो जाए, तो उसे स्वीकारना, यह सब पॉजिटिव पेरेंटिंग का हिस्सा है। एक तरह से पुरानी पेरेंटिंग शैली को बदलना।

4. बच्चे के लिए खुद को उपलब्ध रखें

स्कूल जाने वाले बच्चे को भरपूर वक्त देना भी माता-पिता के लिए जरूरी है। खासकर उन दिनों उनके साथ रहें, जो उनके जीवन में पहली बार आए हों। जैसे कि पेरेंट्स टीचर मीटिंग, रिजल्ट के दिन, स्कूल के फंक्शन, बच्चे का कोई कॉम्पिटिशन। इन सभी दिनों में खुद को बच्चे के लिए उपलब्ध रखें। यह पेरेंटिंग टिप्स स्कूल जाते बच्चों के लिए काफी अहम है, इसलिए बच्चे के खास दिनों में उनके साथ रहें।

5. बच्चे पर भार न डालें

अक्सर जब बच्चे स्कूल जाना शुरू कर देते हैं, तो माता-पिता उनपर अनचाहे भार डालने लग जाते हैं। कई बार तो पेरेंट्स को यह पता भी नहीं होता है कि वो अनजाने में बच्चे पर कितना दबाव डाल रहे हैं।

जी हां, आपने एकदम सही पढ़ा। जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होता है पेरेंट्स कभी कहते हैं कि हमारा बेटा मैथ्स में 90 से ऊपर अंक लाएगा, तो कभी कह देते हैं कि वो क्लास में फर्स्ट आएगा। इन सारी बातों और आपकी उम्मीदों की वजह से बच्चे पर अनचाहा भार पड़ने लगता है। ऐसे में इन चीजों से बचें और बच्चे को हमेशा उसका बेस्ट करने के लिए प्रोत्साहित करें।

स्कूल जाते बच्चों की सही परवरिश के लिए ऊपर बताए गए सभी पेरेंटिंग टिप्स काफी जरूरी हैं। सही परवरिश के साथ ही बच्चे की सेहत का भी ध्यान रखें। इसके लिए बच्चे के सोने और उठने का समय तय करें। उसे हेल्दी डाइट दें और जंक फूड से दूर रखें।

इससे बच्चे के बीमार होने का खतरा भी कम रहेगा और वो अपनी पढ़ाई पर भी अच्छे से ध्यान देगा। अगर बच्चा खाने को लेकर थोड़ा नखरीला है, तो उसे घर में ही हेल्दी खाने को जंक फूड स्टाइल में तैयार करके दे सकते हैं।

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop