• Home  /  
  • Learn  /  
  • गर्भ में बच्चे की हलचल- हलचल कम होने पर क्या करें, क्या यह सामान्य है ?
गर्भ में बच्चे की हलचल- हलचल कम होने पर क्या करें, क्या यह सामान्य है ?

गर्भ में बच्चे की हलचल- हलचल कम होने पर क्या करें, क्या यह सामान्य है ?

27 Apr 2018 | 1 min Read

 

एक महिला के लिए गर्भवती होना काफी रोमांचक अनुभव होता है। जब आपकी कोख में पलता हुआ वो बच्चा हिलता डुलता है और अंदर से सॉफ्ट किक मारता है तो अत्यधिक रोमांच महसूस होता है। इसका इससे बड़ा रोमांच और  क्या होगा कि एक नयी और ऊर्जा से भरपूर ज़िन्दगी का निर्माण आपके शरीर में हो रहा है।  इससे यह भी पता चलता है कि वो नन्ही सी जान स्वस्थ और सकुशल पल बढ़ रही है। बेबीचक्रा के इस लेख में जानेंगें कि गर्भ में बच्चे की हलचल से क्या उम्मीद करनी चाहिए और इससे शिशु का स्वास्थ्य कैसे पता चलता है?

 

बच्चा पेट में कौन से महीने में घूमता है – Pregnancy Me Baby Movement Kab Karta Hai

आमतौर पर बच्चा दूसरी तिमाही में हलचल मचाना शुरू कर देता है। परन्तु यदि आपको गर्भ में बच्चे की हलचल का आभास नहीं हो रहा या फिर पहले हो रहा था और अभी नहीं हो रहा तो हमारी सलाह यह है कि शीघ्र ही अपने डॉक्टर के पास जाकर अपना चेकअप करवा लें। आइए जानते हैं कि गर्भ में बच्चे की हलचल कैसी महसूस होती है – 

 

बच्चा पेट में किस तरह के मूवमेंट करता है – How many Types of Movement Baby Makes in Womb in Hindi

सामान्यतः जब बच्चा कोख में हिलता है तो अजीब तरह के और अलग अलग एहसास होते हैं जैसे – 

  • कभी लगता है कि पेट में तितलियाँ मचल रही हैं, तो कभी अंदर कुछ टूटने जैसा एहसास होता है। 
  • कभी कभी पेट में मरोड़ उठने जैसा एहसास भी होता है। 
  •  शुरू शुरू में पता नहीं चलता कि बच्चा कोख में हिल रहा है या फिर भूख लगी है या पेट ख़राब हो गया है। 
  • दूसरी या तीसरी बार गर्भ धारण कर रही है तो यह बताना काफी आसान हो जाता है कि बच्चा पेट में घूम रहा है या फिर कोई और बात है। 
  • यदि आप पहली बार गर्भवती हुई हैं और दूसरी तिमाही के अंत अथवा तीसरी तिमाही की शुरुआत तक बच्चे की हरकतें पहचानने में काफी आसानी हो जाती है। 

लेख में आगे जानते हैं कि बेबी मूवमेंट अगर कम हैं तो इसके पीछे क्या-क्या कारण हो सकते हैं? 

 

शिशु की हलचल में कमी का कारण?

शिशु की हलचल में कमी के पीछे कुछ सामान्य और तो कुछ गंभीर कारण भी हो सकते हैं। घटी हुई गति के हानिरहित कारण हो सकते हैं जैसे अनजाने में वो समय आपने किक काउंट करने के लिए चुना हो, जब आपका शिशु झपकी ले रहा हो या सो रहा हो। इसके संभावित गंभीर कारण भी हो सकते हैं जैसे  बच्चे की गर्भनाल उनके गले में लिपटी हो, इस स्थिति में शिशु ज्यादा हिल-डुल नहीं पाता।

 

क्या बच्चे की हलचल में कमी आना सामान्य है?

हाँ, बच्चे की हलचल गर्भ में बढ़ती और घटती रहती है। आपको हर समय परेशान होने कि आवश्यकता भी नहीं है | यह ज्ञात हो कि बच्चे के सोने और जागने का समय जान पाना बहुत मुश्किल होता है तो यदि बच्चा हिल नहीं रहा तो यह भी हो सकता है कि वो सो रहा हो इसलिए, यदि आपने शुरूआती 24 हफ़्तों तक भी बच्चे की हलचल महसूस नहीं कि तो चिंता मत कीजिये हाँ, यदि काफी लम्बे समय तक आपको कोई भी हलचल महसूस ना हो तो डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें 

 

शिशु की हलचल न होने पर क्या करें?

यदि आप परेशान है कि आपका बच्चा हलचल क्यों नहीं कर रहा है तो आप अपने बच्चे को मूवमेंट करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। इसके कुछ अलग और सरल उपाय आप आज़मा सकते हैं – 

  • हेल्दी खाना  खाएं या संतरे का जूस जैसा कुछ मीठा पिएं।

  • अपने बिस्तर से उठकर थोड़ा आसपास घूमना शुरू करें।

  • अपने पेट पर टॉर्च से रौशनी डालें।

  • अपने बच्चे से बात करें।

  • अपने पेट को सहलाएं, ख़ासतौर पर वहाँ जहाँ आप अक्सर अपने बच्चे को महसूस करते हैं।

बच्चे की हलचल कम होने का निदान कैसे करें?

जैसे जैसे समय गुज़रता जाता है, बच्चे की हलचल अधिक होने लगती है और इसका साफ़ रूप से पता चल जाता है। बच्चे की हलचल की एक औसतन समयरेखा हम नीचे प्रस्तुत कर रहे है, हालांकि यह एकदम सटीक नहीं है पर इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं :

  • 12-15 हफ्ते – यह पहली बार है जब बच्चा कोख में हिलता है, पर कम्पन इतनी नहीं होती कि इस हलचल का एहसास हो पाए
  • 16-18 हफ्ते – इस समय तक आपको हलचल का पता चलना शुरू हो जाता है क्यूंकि भ्रूण का काफी हद तक विकास हो जाता है। इस समय की हलचल पेट में गैस होने जैसा एहसास दिलाती है
  • 20-22 हफ्ते – इस समय तक बच्चे का विकास काफी हद तक हो जाता है और उसके हिलने डुलने की हलचल काफी तेज़ हो जाती है
  • 24-28 हफ्ते – पेट में ऐठन और टूटन सा एहसान होने लग जाता है
  • 28-32 हफ्ते – बच्चा काफी तेज़ी से हिलता और पैर मारता है और आपको लात और मुक्के मारने का एहसास लगातार होता रहेगा
  • 34-38 हफ्ते – इतनी अवधि तक गर्भाशय का आकर काफी बढ़ चुका होता है तो बच्चे की हलचल अधिक महसूस नहीं होती और बच्चे के लिए जगह भी पर्याप्त नहीं होती है

जब आपको पता चल जाता है कि आपके बच्चे ने हिलना शुरू कर दिया है तो यह अच्छा होगा कि आप उसकी हलचलों पर नज़र रखें। हालांकि इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि यदि गर्भ में बच्चे की हलचल होती है तो मतलब उसमे विकास और विस्तार हो रहा है परन्तु यह भी सही है कि भ्रूण का हिलना डुलना अप्रत्यक्ष रूप से यह बताता है कि शिशु का विकास साधारण रूप से हो रहा है इसे बच्चे के विकास का संकेत माना जा सकता है। 

 

Related Content:

ओवुलेशन कैलकुलेटर (Ovulation Days Calculator in Hindi) का उपयोग करके आप आसानी से जान पाएंगी कि किस दिन आपके फर्टाइल होने की सबसे अधिक संभावना होगी

like

182.6K

Like

bookmark

960

Saves

whatsapp-logo

23.0K

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop