Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!

गर्भ में बच्चे की हलचल- हलचल कम होने पर क्या करें, गर्भावस्था में क्या सामान्य है और क्या नहीं |

cover-image
गर्भ में बच्चे की हलचल- हलचल कम होने पर क्या करें, गर्भावस्था में क्या सामान्य है और क्या नहीं |

एक महिला के लिए गर्भवती होना एक दिव्य अनुभव के सामान होता है, इसमें उसे आभास होता है कि वो एक जीवन का निर्माण करने जा रही है | और जब आपकी कोख में पलता हुआ वो बच्चा हिलता डुलता है और अंदर से एक प्यारी सी लात मारता है तो अत्यधिक रोमांच का अनुभव होता है | इसका इससे बड़ा उदाहरण क्या होगा कि एक नयी, रोमांचित और ऊर्जा से भरपूर ज़िन्दगी का निर्माण आपके शरीर में हो रहा है | इससे यह भी स्थापित होता है कि वो नन्ही सी जान स्वस्थ और सकुशल पल बढ़ रही है |

 

आमतौर पर बच्चा दूसरी तिमाही में हलचल मचाना शुरू कर देता है परन्तु यदि आपको किसी हलचल का आभास नहीं हो रहा या फिर पहले हो रहा था और अभी नहीं हो रहा तो हमारी सलाह यह है कि शीघ्र ही अपने डॉक्टर के पास जाकर अपना चेकअप करवा लें |

 

जब बच्चा कोख में पैर मारता है तो कैसा महसूस होता है ?

सामान्यतः जब बच्चा कोख में हिलता है तो अजीब तरह के और अलग अलग एहसास होते हैं | कभी लगता है कि पेट में तितलियाँ मचल रही हैं, तो कभी अंदर कुछ टूटने जैसा एहसास होता और कभी कभी तो पेट में मरोड़ उठने जैसा एहसास भी होता है | शुरू शुरू में पता नहीं चलता कि बच्चा कोख में हिल रहा है या फिर भूख लगी है या पेट ख़राब हो गया है | परन्तु यदि आप दूसरी या तीसरी बार गर्भ धारण कर रही है तो यह बताना काफी आसान हो जाता है कि बच्चा पेट में चहलकदमी कर रहा है या फिर कोई और बात है |

 

यदि आप पहली बार गर्भवती हुई हैं और दूसरी तिमाही के अंत अथवा तीसरी तिमाही की शुरुआत तक बच्चे की हरकतें पहचानने में काफी आसानी हो जाती है |

 

बच्चा कितनी बार और कब कब पैर मारता है ?

गर्भवती होने के शुरूआती चरण में बच्चा कभी कभार इधर उधर हिलता डुलता है और दूसरी तिमाही के अंत तक यह हरकतें काफी हद तक बढ़ जाती हैं | कुछ शोधों के अनुसार तीसरी तिमाही तक बच्चा एक घंटे में तकरीबन 30 बार हिलता अथवा पैर मारता है |

 

यह अक्सर देखा गया है कि बच्चा अधिक हरकतें तभी करता है जब उसकी माँ विश्राम कर रही होती है, जैसे कि मध्य रात्रि के समय | इसके अलावा यदि आप गौर करेंगे तो भोजन के उपरान्त भी बच्चे की हरकतें बढ़ जाती हैं, यही नहीं जब आप बेचैन हैं अथवा आराम कर रहे हैं तब भी यही हाल रहता है |

 

दूसरी और तीसरी तिमाही में किस तरह की हलचल महसूस होगी ?

जैसे जैसे समय गुज़रता जाता है, बच्चे की हलचल अधिक होने लगती है और प्रत्यक्ष रूप से पता चल जाता है | बच्चे की हलचल की एक औसतन समयरेखा नीचे प्रस्तुत है, हालांकि यह एकदम सटीक नहीं है पर इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं :

12-15 हफ्ते - यह पहली बार है जब बच्चा कोख में हिलता है, पर कम्पन इतनी नहीं होती कि इस हलचल का एहसास हो पाए

16-18 हफ्ते - इस समय तक आपको हलचल का पता चलना शुरू हो जाता है क्यूंकि भ्रूण का काफी हद तक विकास हो जाता है | इस समय की हलचल पेट में गैस होने जैसा एहसास दिलाती है |

20-22 हफ्ते - इस समय तक बच्चे का विकास काफी हद तक हो जाता है और उसके हिलने डुलने की हलचल काफी तेज़ हो जाती है

24-28 हफ्ते - पेट में ऐठन और टूटन सा एहसान होने लग जाता है

28-32 हफ्ते - बच्चा काफी तेज़ी से हिलता और पैर मारता है और आपको लात और मुक्के मारने का एहसास लगातार होता रहेगा

34-38 हफ्ते - इतनी अवधि तक गर्भाशय का आकर काफी बढ़ चुका होता है तो बच्चे की हलचल अधिक महसूस नहीं होती और बच्चे के लिए जगह भी पर्याप्त होती है |

 

क्या मुझे बच्चे की हलचलें गिननी चाहिए ? यदि हलचल महसूस हो तो क्या करना चाहिए ?

 

जब आपने स्थापित कर लिया है कि आपके बच्चे ने हिलना शुरू कर दिया है तो यह अच्छा होगा कि आप हलचलों पर नज़र रखें | हालांकि इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि यदि भ्रूण में हलचल है तो मतलब उसमे विकास और विस्तार हो रहा है परन्तु यह भी सही है कि भ्रूण का हिलना डुलना अप्रत्यक्ष रूप से यह बताता है कि बच्चा का विकास साधारण रूप से हो रहा है | इसे बच्चे के विकास का संकेत माना जा सकता है |

 

बच्चे की हलचल को गिनने का सबसे सही समय विश्राम अथवा भोजनोपरांत का होता है | इस समय आप दो घंटे में 10 -12 बार हलचल महसूस कर सकते हैं | यदि बच्चा अधिक हिल दल नहीं रहा अथवा आप किसी तरह की हलचल महसूस नहीं कर पा रहे हैं तो बेहतर यह होगा कि बिना किसी विलम्ब के अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें और अपना चेकअप करवा लें |

 

पर हर समय परेशान होने कि आवश्यकता भी नहीं है | यह ज्ञात हो कि बच्चे के सोने और जागने का समय जान पाना बहुत मुश्किल होगा | तो यदि बच्चा हिल नहीं रहा तो यह भी हो सकता है कि वो सो रहा हो | इसलिए, यदि आपने 24 हफ़्तों तक भी बच्चे की हलचल महसूस नहीं कि तो चिंता मत कीजिये | फिर भी यदि काफी लम्बे समय तक आपको कोई भी हलचल महसूस ना  हो तो डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें |


अस्वीकरण : यहाँ पर मौजूद सभी जानकारी पेशेवर सलाह, निदान और उपचार का विकल्प नहीं है | कुछ भी करने से पहले अपने डॉक्टर से जानकारी अवश्य लें |