गर्भ में पल रहे बच्चे के होने का एहसास करवाती हैं उसकी धड़कनें

cover-image
गर्भ में पल रहे बच्चे के होने का एहसास करवाती हैं उसकी धड़कनें

उसके होने की सबसे पहली आवाज़ होती है, उसके दिल की धड़कन। गर्भ में पल रही उस नन्हीं जान को पहली बार सुनने वाली मां के लिए इससे बेहतर अनुभूति कोई नहीं हो सकती।

 

बच्चे के दिल की धड़कनें उसके होने का एहसास तो देती हैं, साथ ही उसके स्वास्थ्य की जानकारी भी देती हैं। गर्भवस्था की अलग-अलग Stages में बच्चे की धड़कनें भी बदलती रहती हैं।

 

 

भ्रूण का हार्ट रेट

एक मिनट में भ्रूण के दिल की धड़कनें मिलकर ही उसका हार्ट रेट बनता है। जैसे अगर एक मिनट में 120 से 160 के बीच उसका दिल धड़कता है, तो इसे नॉर्मल माना जाता है।

 

कब से धड़कने लगता है बच्चे का दिल?

गर्भधारण के ठीक 3 हफ़्ते बाद हार्ट मसल, जिसे मायोकार्डियम कहते हैं, वो बनती है। लेकिन वो ढंग से सुनाई 6 हफ़्ते के करीब देने लगती है। 9वें हफ़्ते से डॉप्लर मशीन में मां-बाप आराम से बच्चे की आवाज़ सुन लेते हैं। प्रेगनेंसी बढ़ने के साथ-साथ उसकी धड़कनों की आवाज़ क्लियर और तेज़ होती जाती है।

 

गर्भ में पल रहे जुड़वा बच्चों के दिल कैसे धड़कते हैं, सुनना चाहेंगे?

 

क्या भ्रूण के हार्ट रेट से उसका जेंडर पता लग सकता है?

 

ये सालों से चली आ रही एक मिथ्या है, जिसे कई लोग आज भी मानते हैं. डॉक्टर कई बार कह चुके हैं कि गर्भ में पल रहे बच्चे के हार्ट रेट से उसके लिंग का पता नहीं चलता है।

 

सुनने में कैसी लगती हैं बच्चे के दिल की धड़कनें

 

ये जानना किसी भी Expecting पेरेंट के लिए शानदार अनुभव होता है. वैसे कई लोग कहते हैं कि बच्चे की धड़कनें किसी घोड़े के भागने जैसी होती हैं। जबकि असल में कई दफ़ा ये आवाज़ बच्चे की नाल (Umbilical Cord) करती है. लेकिन डॉप्लर मशीन में आप ये आवाज़ साफ़-साफ़ सुन सकते हैं।

 

 

मां और बच्चे की धड़कनें एक साथ सुनिए इस वीडियो में:

 

अस्वीकरण : इस लेख में कही गयी बातें किसी भी तरह से प्रोफ़ेशनल मेडिकल सलाह, ट्रीटमेंट  और मूल्यांकन का Substitute नहीं हैं। सबसे पहले अपने डॉक्टर की सलाह लें। हमारा मकसद सिर्फ़ आप तक सही जानकारी पहुंचाना है।

logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!