कील-मुंहासे दूर करें नारियल तेल से

cover-image
कील-मुंहासे दूर करें नारियल तेल से

जब चेहरे पर बहुत ज्यादा कील-मुंहासे आने लगे तो समय रहते उनका इलाज जरूरी है। कील-मुंहासे होने के कई कारण हैं जैसे कि हार्मोन में गड़बड़ी का हो जाना। अपनी त्वचा की सफाई न करना, पेट की खराबी होना या पेट सही साफ़ न होना, चेहरे पर क्रीम तेल या चिकनाई युक्त पदार्थ का इस्तेमाल करना, चेहरे की त्वचा का बहुत अधिक तैलीय होना, दिनचर्या का सही न होना, अधिक देर तक धूप में रहना, खाने-पीने की गलत आदत होना,अत्यधिक मात्रा में वसायुक्त भोजन करना।

महँगी क्रीम और अतिरिक्त देखभाल से भी अगर मुहांसे ठीक न हो रहे हों तो आपको प्राकृतिक उपाय पर ध्यान देना चाहिए। विशेषज्ञों का कहना है कि मुहांसों से छुटकारा पाने में नारियल तेल लगाने के फायदे कई है आइये जानते है नारियल तेल लगाने के फायदे

त्वचा के लिए नारियल तेल के फायदे - Benefits Of Coconut Oil For Skin

घर पर ही मौजूद चीजों से हम मुंहासों का इलाज कर सकते हैं। हम सबके घरों में मौजूद नारियल तेल बालों के अलावा हमारी त्वचा के लिए बड़े काम की चीज है। नारियल तेल एक प्राकृतिक पदार्थ होता है जिसमें संक्रमण से लड़ने की ताकत होती है। मुंहासे भी एक प्रकार का संक्रमण ही होते हैं। नारियल तेल के लाभ कुछ इस तरह हो सकते हैं -

  • यह स्वास्थ्य और सुन्दरता के कई उपचारों के लिए फायदेमंद होता है।
  • नारियल तेल में पाया जाने वाला लॉरिक एसिड सूक्ष्म जीवाणुओं को मारता है।
  • यह त्वचा से बैक्टीरिया और फंगस को खत्म करता है।
  • रोम छिद्रों में जमा इन्फेक्शन (संक्रमण) के इलाज में सहायता मिलती है।
  • मुंहासों के कारण होने वाले दर्द और सूजन को भी नारियल तेल खत्म करता है।

शुद्ध नारियल तेल इतना असरकारी होता है कि एक सप्ताह तक इसके नियमित इस्तेमाल से बेहतर परिणाम देखने को मिल जायेंगे। शुद्ध नारियल तेल का pH स्तर त्वचा के pH स्तर के लगभग आस-पास होता है, इसलिए नारियल तेल आपकी त्वचा के लिए काफी सौम्य होता है। यह आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेल को भी संतुलन में रखता है। नारियल तेल काफी हल्का होता है, इसलिए यह आपके रोम छिद्रों को बंद नहीं करता है और त्वचा इसे आसानी से सोख लेती लेती है। यह त्वचा को वातावरण की अशुद्धियों से बचाता है।


नारियल तेल से बने घरेलू नुस्खे - Coconut Oil Home Remedies


Image Source: freepik.com

1. हल्दी के साथ नारियल तेल का इस्तेमाल

Image Source: freepik.com

नारियल तेल में हल्दी मिलाने से यह एक प्रभावी घरेलू उपचार बन जाता है। हल्दी में पाया जाने वाला कुर्कुमिन त्वचा को औषधीय गुण प्रदान करता है। कुर्कुमिन त्वचा की सूजन को खत्म करता है और बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है, जो मुंहासों को खत्म करने में सहायक है। हल्दी के इस्तेमाल से त्वचा पर पीले रंग के दाग लग सकते हैं, लेकिन त्वचा को दो-तीन बार धोने से ये दाग आसानी से चले जाते हैं।


इस्तेमाल की विधि :

  • एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली) शुद्ध नारियल तेल लें उसमें एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) हल्दी पाउडर मिलाएं।
  • इस मिश्रण को रुई से मुंहासों पर लगाएं।
  • इसे पांच से सात मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें।
  • फिर मुंह को पानी से धोकर तौलिया से पोछ लें।
  • कील-मुंहासों को खत्म करने के लिए रात में सोने से पहले प्रतिदिन इस उपचार का इस्तेमाल करें।



2. बेकिंग सोडा और नारियल तेल का इस्तेमाल

Image Source: freepik.com

बेकिंग सोडा त्वचा को गहराई तक साफ करता है और यह रोम छिद्रों से धूल व मृत कोशिकाओं को हटाकर मुंहासों को खत्म करता है। नारियल तेल सूजन को कम करके मुंहासों को जल्दी ठीक करता है। बेकिंग सोडा कुछ प्रकार की त्वचा को रूखा बना देता है, इसलिए आपको त्वचा पर सिर्फ बेकिंग सोडा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। लेकिन आप इसे नारियल तेल के साथ मिलाकर आसानी से उपयोग कर सकते हैं।

नारियल तेल के साथ इस्तेमाल करने से यह आपकी त्वचा को नमी और पोषण प्रदान करता है। बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करने से पहले इसे अपनी त्वचा पर टेस्ट जरूर करें। बेकिंग सोडा और नारियल तेल की मुंहासों पर लगाने से पहले से अपने बांह के अंदरूनी हिस्से पर लगा के देख ले, अगर आपको जलन महसूस हो रही हो तो इस विधि का इस्तेमाल न करें।


इस्तेमाल की विधि :

  • एक बड़ा चम्मच (लगभग 15 मिली) शुद्ध नारियल तेल लें उसमें एक छोटा चम्मच (लगभग 5 ग्राम) बेकिंग सोडा मिलाएं। इसे अच्छी तरह से मिला लें।
  • इस मिश्रण को रुई से मुंहासों पर लगाएं।
  • इसे पांच से सात मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें।
  • फिर मुंह को पानी से धोकर तौलिया से पोछ लें।

मुंहासों के खत्म होने तक इस मिश्रण का इस्तेमाल करें। आपको एक से दो दिन के इस्तेमाल से ही परिणाम देखने को मिल जायेंगे, लेकिन मुंहासों के पूरी तरह से खत्म होने में एक सप्ताह का समय लग सकता है। यह मुंहासों की गंभीरता पर निर्भर करता है।


3. नारियल तेल में एलोवेरा और शहद का इस्तेमाल

Image Source: freepik.com

एलोवेरा और शहद के साथ नारियल तेल का इस्तेमाल हर प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त होता है। एलोवेरा प्राकृतिक उपचार है। शहद और नारियल तेल के साथ एलोवेरा के इस्तेमाल से यह मुंहासों में होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में सहायक होता है। एलोवेरा और शहद दोनों ही बैक्टीरिया को खत्म करने में सहायक हैं, जिससे त्वचा का इन्फेक्शन (संक्रमण) खत्म किया जा सकता है।

अगर आपकी त्वचा रूखी है, तो कभी-कभी त्वचा से अतिरिक्त तेल का बनने लगता है, जिससे मुंहासे होने लगते हैं। एलोवेरा और शहद त्वचा को प्राकृतिक रूप से नमी प्रदान करने का काम करते हैं, जिससे अतिरिक्त तेल के करण होने वाले मुंहासों से छुटकारा मिलता है।

इस्तेमाल की विधि :

  • एक कटोरी में शुद्ध नारियल तेल, एलोवेरा जेल और शहद को सामान मात्रा में दो-दो बड़े चम्मच (लगभग 30 ग्राम) लें।
  • तीनों पदार्थों को अच्छी तरह से मिला लें।
  • तैयार मिश्रण को रुई से मुंहासों पर लगाएं। चाहे तो पूरे मुंह पर लगा सकती हैं।
  • इसे लगभग आधे घंटे तक लगा रहने दें।
  • फिर मुंह को गुनगुने पानी से धोकर तौलिया से पोछ लें।
  • बेहतर परिणाम पाने के लिए प्रतिदिन इस उपचार का इस्तेमाल करें।
  • इस तरह नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर आप मुंहासों से छुटकारा पा सकती हैं। इसके अलावा खाली नारियल का तेल भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जानिए कैसे ?


चेहरे पर रात भर नारियल के तेल का किस तरह करें इस्तेमाल?

नारियल के तेल में पौष्टिक फैटी एसिड होते हैं जो त्वचा को हाइड्रेट और सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। इनमें लिनोलेइक एसिड (विटामिन एफ) शामिल है, जो त्वचा को नमी बनाए रखने में मदद करता है, और लॉरिक एसिड भी है जिसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं।
यदि आपकी त्वचा रूखी, परतदार है, तो अपने नियमित मॉइस्चराइज़र के बजाय नारियल के तेल का उपयोग करने से आपकी त्वचा नरम और हाइड्रेट हो सकती है, जिससे यह जागने पर ताज़ा और मुलायम दिखती है।


शुद्ध नारियल तेल का नुस्खा

  • मुंहासों पर शुद्ध नारियल तेल को रुई से लगाइए।
  • पूरी रात ऐसे ही छोड़ दीजिये और अगली सुबह गुनगुने पानी से चेहरा धो लीजिये।
  • नियमित रूप से कील-मुंहासों को खत्म करने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल करें।


इस लेख में आपने जाना कि नारियल तेल लगाने के फायदे त्वचा से मुहांसे खत्म करने में कैसे उपयोगी साबित ही सकते हैं। गन्दगी और बैक्टीरिया के अलावा कई लोगों के चेहरे पर फोड़े-फुंसियों का होना वंशानुगत समस्या भी होती है। महिलाओं को पीरियड्स के समय मुंहासे निकलते हैं। गर्भावस्था में हॉर्मोनल चेंज के कारण भी मुंहासे होना भी आम बात है। ऐसे में घरेलू नुस्खे के भरोसे न रहें बल्कि त्वचा रोग विशेषज्ञ से सही इलाज के बारे में पूछें।

सूचना: बेबीचक्रा अपने वेब साइट और ऐप पर कोई भी लेख सामग्री को पोस्ट करते समय उसकी सटीकता, पूर्णता और सामयिकता का ध्यान रखता है। फिर भी बेबीचक्रा अपने द्वारा या वेब साइट या ऐप पर दी गई किसी भी लेख सामग्री की सटीकता, पूर्णता और सामयिकता की पुष्टि नहीं करता है चाहे वह स्वयं बेबीचक्रा, इसके प्रदाता या वेब साइट या ऐप के उपयोगकर्ता द्वारा ही क्यों न प्रदान की गई हो। किसी भी लेख सामग्री का उपयोग करने पर बेबीचक्रा और उसके लेखक/रचनाकार को उचित श्रेय दिया जाना चाहिए।

Related Articles:

क्या त्वचा की कान्ति बढ़ाती है तेल की मालिश ? - तेल की मालिश करने से त्वचा से गन्दगी हटती है, यह तो सबको पता है लेकिन क्या ये स्किन को ग्लोइंग करने में मददगार है जानिए -

नवजात शिशु के लिए क्या सचमुच कारगर है तेल मालिश ? - नवजात शिशु की मालिश करने की परम्परा सदियों पुरानी है, जानिए विशेषज्ञों इस बारे में क्या कहते हैं ?

प्रेगनेंसी के तीसरे महीने में त्वचा का ख्याल क्यों है जरूरी ? - प्रेगनेंसी के तीसरे महीने में स्किन में कुछ बदलाव आ सकते हैं, पढ़िए इसके समाधान के बारे में -

Banner Image Source: freepik.com

#beautyandstyle
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!