गर्भावस्था में वीगन डाइट के फायदे और नुकसान

cover-image
गर्भावस्था में वीगन डाइट के फायदे और नुकसान

वीगन डाइट, यानी कि ऐसे खाद्य पदार्थ जो है तो शाकाहारी लेकिन फिर भी बहुत अलग है। वीगन डाइट में किसी भी डेयरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इस डाइट में हाई कार्बोहाइड्रेट वाले वेजिटेरियन फूड का इस्तेमाल करते हैं। जैसे कि फल, आलू, चावल, मक्का और सोयाबीन का भी प्रयोग किया जाता है।


वीगन डाइट वजन कम करने के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है। गर्भावस्था के दौरान अगर आप किसी डेयरी प्रोडक्ट एलर्जी है। तो भी इस डाइट का इस्तेमाल आप कर सकते हैं।

 

आइये जानते हैं गर्भावस्था में वीगन डाइट कैसे ले और इसके फायदे क्या है।

वीगन डाइट के प्रेगनेंसी में फायदे

  • गर्भावस्था में बहुत ज्यादा वजन बढ़ना गर्भस्थ शिशु, और मां के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान वजन कम करने में वीगन डाइट फायदेमंद हो सकती है।
  • वीगन डाइट में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। इसलिए आपको यह महसूस होगा कि आपका पेट भरा है। फाइबर का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद होता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप खाली पेट रहे। फाइबर से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन आप करते रहे।
  • प्रेगनेंसी में गर्भकालीन मधुमेह होने की संभावना रहती है। वीगन डाइट को फॉलो करने से आपको शुगर कम करने में मदद मिलेगी। क्योंकि इसमें चीनी का स्त्रोत नेचुरल होता है। इस वजह से डायबिटीज होने का खतरा भी कम ही रहता है।
  • वीगन डाइट में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल पाये जाते हैं। गर्भावस्था में विटामिन और मिनरल आपको भरपूर एनर्जी प्रदान करते हैं।

 

गर्भावस्था में किसी भी डाइट को आप डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं लें।

वीगन डाइट के स्त्रोत क्या है

बादाम
सोयाबीन का दूध, सोया पनीर
राइस ब्रैन आयल
पालक
बैंगन
बादाम का दूध
पीनट बटर
हरी पत्तेदार सब्जियां


इसके अलावा वह सारी चीजें जो डेयरी प्रोडक्ट से ना बनी हो। वीगन डाइट में फलों में कीवी, अंगूर, अनार, पपीता, तरबूज आदि फल आते हैं।

गर्भावस्था में वीगन डाइट के नुकसान

  • प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी फूड से एलर्जी हो सकती है। वीगन डाइट में मूंगफली का इस्तेमाल किया जाता है। अक्सर पहली तिमाही में मूंगफली प्रोडक्ट से एलर्जी होने की संभावना रहती है।
  • वीगन डाइट में विटामिन बी 12 पर्याप्त मात्रा में नहीं पाया जाता है। जिसकी वजह से शिशुओं के न्यूरोलॉजिकल विकास में बाधा आती है।
  • प्रोटीन गर्भस्थ शिशु के अच्छे विकास के लिए प्रोटीन बहुत आवश्यक है। लेकिन वीगन डाइट में प्रोटीन की मात्रा कम होती है।
  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती मां को सारे पोषण मिलने चाहिए। लेकिन वीगन डाइट में डेयरी प्रोडक्ट नहीं होने की वजह से कई चीजों की कमी हो सकती है।


हालिकी सभी डाइट के अपने फायदे और नुकसान है लेकिन आप वही डाइट फॉलो करे जो आपके और गर्भस्थ शिशु के लिए फायदेमंद है। इसके लिए अपनी डॅाक्टर से सबसे पहले सलाह ले।

#garbhavastha #pregnancymustknow #momnutrition
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!