• Home  /  
  • Learn  /  
  • गर्भावस्था में होली खेलनाः गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स, इन बातों का रखें ख्याल
गर्भावस्था में होली खेलनाः गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स, इन बातों का रखें ख्याल

गर्भावस्था में होली खेलनाः गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स, इन बातों का रखें ख्याल

17 Mar 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 279 Articles

कुछ लोगों को होली खेलना या रंग से खेलना नापसंद हो सकता है, तो कुछ लोग दिल खोलकर होली के दिन रंग-गुलाल से खेलना पसंद होता है। पर बात अगर गर्भवती महिला के होली खेलने की हो, तो यहां पर सतर्क रहना जरूरी हो जाता है। गर्भावस्था में होली खेलना चाहिए या नहीं, यह बच्चे के लिए किस तरह का प्रभाव दिखा सकता है, इन्हीं सब बातों की जानकारी इस लेख में दी गई है। 

साथ ही, इस लेख में होली खेलने के लिए दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स (Holi Skin Care Tips During Pregnancy) भी बताए गए हैं। होली स्किन केयर टिप्स के जरिए गर्भवती महिलाएं स्वास्थ्य के साथ ही, अपनी त्वचा का भी ख्याल रख सकती हैं।

क्या गर्भावस्था में होली खेलना सुरक्षित है? (Garbhavastha Mein Holi Khelna Chahiye Ya Nahi)

गर्भावस्था में होली खेलना
गर्भावस्था में होली खेलना / चित्र स्रोत : फ्रीपिक

गर्भावस्था होली खेलना या नहीं, इस विषय को लेकर किसी तरह का वैज्ञानिक शोध नहीं किया गया है। हालांकि, अगर कोई गर्भवती महिला गर्भावस्था के दौरान होली खेलना चाहती हैं, तो वे निम्नलिखित बातों का ध्यान रखते हुए गर्भावस्था के दौरान होली खेलने या न खेलने का फैसला कर सकती हैं, जैसेः

  • उनकी गर्भावस्था का चरण, कौन-सा सप्ताह या महीना चल रहा है।
  • होली खेलने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाले रंग कौन-सा है। यानी होली का रंग हर्बल या ऑर्गेनिक है, सूखा गुलाल है या केमिकल युक्त पानी वाला रंग है आदि।
  • इसके अलावा, होली किस जगह पर खेलना है।

अगर गर्भावस्था में होली खेलना चाहती हैं, तो इन बातों का विशेष ध्यान रख सकती हैं। ध्यान रखें कि निम्नलिखित स्थितियों में गर्भावस्था के दौरान होली खेलना नुकसानदायक हो सकता है, जैसेः 

  • दूसरी तिमाही का आखिरी सप्ताह हो या तीसरी तिमाही चल रही हो।
  • गर्भ में एक से अधिक शिशु का विकास हो रहा हो।
  • होली का रंग केमिकल युक्त होने पर।
  • होली खेलने वाले स्थान पर अधिक भीड़-भाड़ हो।
  • गर्भवती महिला को रंगों से एलर्जी की समस्या हो।
  • या गर्भवती महिला को गर्भावस्था से जुड़ी कोई जटिलता हो या उसे अस्थमा की समस्या हो।

क्या गर्भावस्था के दौरान होली खेलना बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है?

होली का रंग या गर्भावस्था के दौरान होली खेलना बच्चे के लिए कितना सुरक्षित हो सकता है, यह पूरी तरह से होली के रंग के प्रकार पर निर्भर कर सकता है। इसलिए, ऐसी अवस्था में गर्भवती महिला को सिर्फ हर्बल यानी प्राकृ तिक रंगों से ही होली खेलने को प्राथमिकता देनी चाहिए।

बता दें, केमिकल युक्त रंग बनाने में मरकरी (पारा) जैसे टॉक्सिक (विषैले) पदार्थों का इस्तेमाल होता है, जो सांस व त्वचा से जुड़ी एलर्जी का कारण बन सकते हैं। ऐसे में अगर रंग खेलते हुए माँ के मुंह में प्रवेश कर जाए, तो यह माँ व बच्चे दोनों के लिए ही जोखिम भरा हो सकता है। 

गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स (Holi Skin Care Tips During Pregnancy)

एक बात का ध्यान रखें कि गर्भावस्था में होली खेलना अगर सुरक्षित बनाना चाहती हैं, तो इस दौरान सिर्फ हर्बल, फूलों से बने व ऑर्गेनिक रंगों का ही चुनाव करना चाहिए। साथ ही, इस दौरान भी उन्हें अपनी त्वचा से जुड़ी कुछ खास सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिए। इसलिए, इस भाग में हम गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स (holi skin care tips) बता रहे हैं।

रंग खेलने से पहले गर्भवती महिलाओं के लिए होली स्किन केयर टिप्स (Pre Holi Skin Care Tips)

गर्भावस्था में होली खेलना
गर्भावस्था में होली खेलना / चित्र स्रोत: फ्रीपिक
  1. नारियल तेल लगाएं – रंग खेलने से पहले बालों के साथ ही, त्वचा पर भी अच्छे से नारियल का तेल लगाएं। ऐसा करने से त्वचा पर रंग कम से कम चढ़ेगा।
  2. रासायनिक व केमिकल रंग न खेंले – गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स में इसका ध्यान रखें कि होली का रंग रासायनिक व केमिकल युक्त न हो। फूलों से बने रंग का ही इस्तेमाल करें। 
  3. होली में गर्भावस्था के दौरान फेशियल और ब्लीच न कराएं – होली के दौरान गर्भावस्था में रंग खेलना चाहती हैं, तो इस दौरान भूल से भी फेशियल या ब्लीच न कराएं। न ही किसी तरह का स्किन ट्रीटमेंट कराएं। ऐसा कराने से होली का रंग आसानी से त्वचा में अधिक समय तक रह सकता है। 
  4. सूखी होली खेलें – बिना पानी वाले रंगों के होली अधूरी ही मानी जाती है। पर ध्यान रखें कि गर्भावस्था के दौरान होली खेलना चाहती हैं, तो सिर्फ सूखे रंगों व गुलाल का ही इस्तेमाल करें। 
  5. फुल स्लीव्स के कपड़े पहनें – होली का रंग त्वचा पर कम से कम चढ़े, इसके लिए होली के दौरान गर्भवती महिलाओं को फुल स्लीव्स के कपड़े पहनने चाहिए। 

रंग खेलने के बाद गर्भवती महिलाओं के लिए होली स्किन केयर टिप्स (post holi skin care tips)

  1. कच्चे दूध से त्वचा साफ करें – होली खेलने के बाद त्वचा से रंग हटाने के लिए कच्चे दूध का इस्तेमाल करें। 
  2. आलू या टमाटर का रस – अगर नहाने के बाद भी त्वचा पर रंग रहता है, तो प्रभावित त्वचा पर आलू या टमाटर का रस लगाएं और सूखने के बाद उसे साफ करें। 
  3. एलोवेरा जेल – नहाने के तुरंत बाद पूरे शरीर पर एलेवेरा का जेल लगाएं। एलोवेरा जेल न सिर्फ होली के रंग को छुड़ाने में मदद कर सकता है, बल्कि अगर रंग के कारण त्वचा पर खुजली, जलन, दाने या एलर्जी की समस्या हो रही है, तो यह उसके उपचार में भी प्रभावकारी हो सकता है।
  4. बेसन, हल्दी और गुलाबजल का उबटन – होली खेलने के बाद अगर त्वचा का रंग सांवला लग रहा है तो निखार लाने के लिए 4 चम्मच  बेसन में 4 चम्मच हल्दी पाउडर व गुलाबजल मिलाकर इसका उबटन बनाएं और इसे चेहरे व पूरे शरीर पर लगाकर स्क्रब करें। 20 मिनट बाद सादे पानी से नहा लें। ऐसा नियमित रूप से 2-3 दिन तक कर सकती हैं। 
  5. चंदन और मुल्तानी मिट्टी का पैक – अगर चेहरे, गर्दन व कान की त्वचा से होली का रंग नहीं जा रहा है, तो 1 चम्मच  चंदन पाउडर में 1 चम्मच मुल्तानी मिट्टी मिलाएं। फिर कच्चे दूध से इसका पेस्ट बना कर प्रभावित हिस्से पर लगाएं। 15 मिनट बाद हल्के हाथों से रगड़ते हुए इसे साफ कर लें। 

गर्भावस्था में होली खेलना कैसे सुरक्षित बनाया जा सकता है, यह पूरी तरह से गर्भवती महिला की सतर्कता पर निर्भर कर सकता है। होली का रंग माँ व बच्चे को किसी तरह का नुकसान न पहुंचाए, इसके लिए जरूरी है कि हर्बल रंगों से ही होली खेलें। साथ ही, लेख में बताए गए गर्भवती महिलाओं के लिए स्किन केयर टिप्स का भी ध्यान रखें। यहां बताए गए होली स्किन केयर टिप्स त्वचा को होली के रंग से बचाए रखने में मददगार साबित होंगे। 

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop