babychakra logo India’s most trusted Babychakra
  • Home  /  
  • Learn  /  
  • Breastfeeding Week:जानें क्या होता है ब्रेस्ट मिल्क बैंक? कैसे यह मदद करता है?
Breastfeeding Week:जानें क्या होता है ब्रेस्ट मिल्क बैंक? कैसे यह मदद करता है?

Breastfeeding Week:जानें क्या होता है ब्रेस्ट मिल्क बैंक? कैसे यह मदद करता है?

3 Aug 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 408 Articles

हर बच्चे का शुरुआती आहार व पोषण माँ का दूध ही होता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि हमारे आस-पास ब्रेस्ट मिल्क बैंक (Breast Milk Bank in Hindi) भी मौजूद हैं! इन ब्रेस्ट मिल्क बैंक या ह्यूमन मिल्क बैंक (Human milk bank in Hindi) में नई माँ के स्तनों का दूध स्टोर किया जाता है। अगर आपने इससे पहले मदर मिल्क बैंक के बारे में नहीं सुना है, तो यह लेख पढ़ें। 

यहां ब्रेस्ट मिल्क बैंक क्या है, ब्रेस्ट मिल्क बैंक का इस्तेमाल क्या है से लेकर देश का पहला ह्यूमन मिल्क बैंक कब व कहां खुला है, इसकी भी जानकारी दी गई है। 

ब्रेस्ट मिल्क बैंक क्या है? (Breast Milk Bank in Hindi)

ब्रेस्ट मिल्क बैंक, ह्यूमन मिल्क बैंक या मदर मिल्क बैंक को लैक्टेरियम (lactarium) कहा जाता है। यह एक तरह की संस्था या निशुल्क सेवा होती है, जहां पर नर्सिंग माताओं के द्वारा उनका ब्रेस्टमिल्क दान किया जाता है। यानी अगर कोई नई माँ अपने ब्रेस्ट मिल्क को दान करना चाहती हैं, तो वे डॉक्टर की सलाह से अपने ब्रेस्ट मिल्क के प्रकार व पोषण की जांच करा कर उसे ब्रेस्ट मिल्क बैंक में दान कर सकती हैं। 

ब्रेस्ट मिल्क बैंक में दान किए दूध का क्या होता है?

ब्रेस्ट मिल्क बैंक
ब्रेस्ट मिल्क बैंक/ चित्र स्रोत: फ्रीपिक

जैसा की किसी भी नवजात शिशु के लिए माँ का दूध सबसे अहम होता है। डॉक्टर जन्म से लेकर छह माह की उम्र तक शिशु को सिर्फ माँ का दूध ही पिलाने की सलाह भी देते हैं। वहीं, कई कारणों से शिशु माँ के स्तनपान से वंचित रह सकता है, ऐसे में ब्रेस्ट मिल्क बैंक की मदद ली जा सकती है। 

उदाहरण के लिए, अगर माँ के स्तनों में दूध की पूर्ति नहीं होती है, प्रसव के बाद किसी कारणवश माँ व शिशु को एक-दूसरे से दूर रहना पड़ रहा हो, माँ की मृत्यु हो गई हो या किसी भी अन्य कारण से शिशु स्तनपान से वंचित रह जाता है, तो मदर मिल्क बैंक के जरिए वह स्तनपान कर सकता है और शुरुआती पोषक आहार का सेवन कर सकता है।

ह्यूमन मिल्क बैंक में कौन सी महिलाएं अपना ब्रेस्ट मिल्क दान कर सकती हैं?

ह्यूमन मिल्क बैंक में दो प्रकार की महिलाएं अपना दूध दान कर सकती है। 

  • अपनी इच्छा से कोई भी नई माँ दूध दान कर सकती हैं
  • दूसरी ऐसी माताएं जो शिशु के मृत्यु के कारण या स्तनों में बहुत अधिक दूध बनने से परेशान हैं, तो वे भी मदर मिल्क बैंक में स्तनमिल्क को स्टोर करने के लिए दे सकती हैं।

ब्रेस्ट मिल्क बैंक किन स्थितियों में दूध देता है?

निम्नलिखित स्थितियों में ब्रेस्ट मिल्क बैंक से माँ का दूध प्राप्त किया जा सकता है, जैसेः

  • नवजात शिशु बहुत कमजोर हो
  • नवजात शिशु को संक्रमण हो
  • नवजात शिशु एसएनसीयू में रखा गया हो
  • नवजात शिशु की माँ के स्तनों में दूध की आपूर्ति नहीं हो रही हो
  • माँ की मृत्यु हो गई हो
  • प्री मेच्योर शिशु का होना
  • मल्टीपल गर्भावस्था हो
  • माँ आइसीयू में एडमिट हो
  • माँ को कोई गंभीर बीमारी हो

देश का पहला ह्यूमन मिल्क बैंक कहां है?

देश का पहला ह्यूमन मिल्क बैंक मुंबई के सायन अस्पताल में स्थापित किया गया है, जिसकी स्थापना नवंबर 1989 में की गई थी। यहां हर साल लगभग 1200 लीटर से अधिक मात्रा में माँ का दूध स्टोर किया जाता है। 

क्या ब्रेस्ट मिल्क बैंक से दूध लेना सुरक्षित है?

हां, ब्रेस्ट मिल्क बैंक से दूध लेना व नवजात शिशु को पिलाना पूरी तरह से सुरक्षित माना जा सकता है। क्योंकि यहां स्टोर करने से पहले ह्यूमन मिल्क के गुणों व पौष्टिक मात्रा की जांच की जाती है। फिर उन्हें सुरक्षित रूप से स्टोर किया जाता है, ताकि ह्यूमन मिल्क लंबे समय तक सुरक्षित बना रहे हैं। 

नीचे पढ़ें ब्रेस्ट मिल्क बैंक में मिल्क को स्टोर करने का सुरक्षित तरीकाः

  • दूध डोनेट करने वाली महिला के स्वास्थ्य की पूरी जांच करने के बाद ही उसका दूध लेना।
  • फिर ब्रेस्ट मिल्क के पोषक तत्वों की जांच करना। 
  • इसके बाद ब्रेस्ट मिल्क को माइनस 20 डिग्री पर स्टोर कर दिया है। 
  • ह्यूमन मिल्क बैंक में स्टोर किए गए दूध को 6 माह तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

भारत में स्थापित ह्यूमन मिल्क बैंक (Human milk bank)

मौजूदा समय में देश के अलग-अलग शहरों में ह्यूमन मिल्क बैंक (Human milk bank) की स्थापना हुई है। यहां हम मशहूर 10 ह्यूमन मिल्क बैंक (Human milk bank) की जानकारी दे रहे हैंः

  1. सायन अस्पताल (लोकमान्य तिलक अस्पताल), मुंबई
  2. कामा एंड एल्बेलेस अस्पताल, मुंबई 
  3. केईएम (King Edward Memorial) अस्पताल, मुंबई 
  4. जेजे अस्पताल (Grant Government Medical College), मुंबई 
  5. दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, पुणे
  6. अमारा दूध बैंक, नई दिल्ली
  7. दिव्य मदर मिल्क बैंक, राजस्थान
  8. एसएसकेएम अस्पताल (Seth Sukhlal Karnani Memorial), कोलकाता
  9. इंस्टीट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ, चेन्नई 
  10. विजया अस्पताल, चेन्नई 

देखा जाए, तो ब्रेस्ट मिल्क बैंक कई परिस्थितियों में नई माँ व नवजात शिशु के लिए सबसे अच्छी पहल हो सकती है। ह्यूमन मिल्क बैंक के जरिए नवजात शिशु के पहले और जरूरी पोषक आहार की पूर्ति की जा सकती है और उन्हें विभिन्न बीमारियों से बचाया जा सकता है।

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop