• Home  /  
  • Learn  /  
  • अनियमित मासिक धर्म में जल्दी प्रेग्नेंट होने के तरीके
अनियमित मासिक धर्म में जल्दी प्रेग्नेंट होने के तरीके

अनियमित मासिक धर्म में जल्दी प्रेग्नेंट होने के तरीके

8 Apr 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 260 Articles

अनियमित मासिक धर्म में जल्दी प्रेग्नेंट कैसे हो सकते हैं, यह सवाल बहुत-सी महिलाओं के मन में होता है। यह इतना मुश्किल भी नहीं है। जी हां, आप कुछ बातों पर ध्यान देकर अनियमित मासिक धर्म में भी जल्दी प्रेग्नेंट हो सकती हैं।

आपकी सुविधा के लिए हम इस लेख में अनियमित मासिक धर्म के कारण और इन अनियमित पीरियड्स में प्रेग्नेंट होने के तरीके बता रहे हैं। यहां पूरी जानकारी वैज्ञानिकों द्वारा इस विषय पर किए गए शोध के आधार पर आपके साथ साझा की जाएगी। 

क्या मैं अनियमित पीरियड्स होने पर भी जल्दी गर्भवती हो सकती हूँ? 

जी, बिल्कुल हो सकती हैं। हां, नियमित चक्र वाली महिलाओं के मुकाबले यह थोड़ा कठिन होता है। एक अध्ययन के अनुसार, मासिक धर्म चक्र में दो दिनों से कम का अंतर होने वाली महिलाओं की गर्भवती होने की संभावना छह दिनों की देरी वाली महिलाओं की तुलना में दोगुनी होती है। 

रिसर्च के दौरान पाया गया कि जिन महिलाओं के पीरियड्स में काफी ज्यादा दिनों की देरी होती है, उनमें गर्भधारण करने की गुंजाइश 51% तक कम हो सकती है। लेकिन आप मायूस न हों, इस प्रतिशत को बढ़ाया भी जा सकता है और अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) के साथ जल्दी गर्भधारण भी हो सकता है। 

सबसे पहले समझिए की अनियमित मासिक धर्म  (Irregular Periods) क्या है?

अनियमित मासिक धर्म क्या है?

आमतौर पर  मासिक धर्म चक्र 28 दिनों का होता है। सही अनुमान के लिए आपको पीरियड्स के पहले दिन से अगले मासिक धर्म के पहले दिन को गिनना होगा। हालांकि, मासिक धर्म चक्र जो लगातार 21 से 35 दिनों तक चलते हैं, उन्हें भी नियमित ही माना जाने लगा है।

मासिक धर्म चक्र को अनियमित तब माना जाता है जब यह 21 दिनों से कम का हो या 35 दिनों से अधिक हो। दो महीनों के मासिक धर्म के बीच में अगर 7 या ज्यादा दिनों का अंतर होगा, तो भी यह अनियमित चक्र (Irregular Periods) ही कहलाएगा। उदाहरण के तौर पर, यदि आपका एक चक्र 22 दिन का रहा और अगला मासिक धर्म चक्र 34 दिन तक चला है, तो यह भी अनियमित ही माना जाता है।

मासिक धर्म चक्र को नियमित होने के लिए हर महीने ठीक उसी समयावधि तक चलने की जरूरत नहीं है। मासिक धर्म चक्र में हर महीने कुछ दिनों की भिन्नता हो सकती है, जिसे सामान्य माना जाता है। बस यह अंतर 7 दिनों का या उससे अधिक नहीं होना चाहिए। अन्यथा यह अनियमित ही कहलाएगा।

अनियमित मासिक धर्म चक्र के कौन से कारण गर्भवती होने में कठिनाई पैदा करते हैं?

अलग-अलग स्थितियां अनियमित चक्र का कारण बनती हैं। तनाव या बीमारी के कारण कभी-कभी अनियमित चक्र का अनुभव होना सामान्य हो सकता है। लेकिन चक्र लंबे समय तक अनियमित चक्र का कारण डॉक्टर निर्धारित करने में मदद करते हैं।

इन अनियमित मासिक चक्र (Irregular Periods) के कारणों को जानना उनके लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, जो जल्दी गर्भवती होना चाहते हैं। निम्नलिखित स्थितियों के कारण अनियमित चक्र हो सकते हैं – 

  1. पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) – पीसीओएस एक काफी सामान्य विकार है, जो लगभग 8-13 प्रतिशत महिला आबादी को उनके प्रजनन वर्षों में प्रभावित करता है। पीसीओएस के कारण अंडाशय छोटा “सिस्ट” (वास्तव में सिस्ट नहीं, बल्कि पूरी तरह से विकसित नहीं हुए वे फॉलिकल्स)  बनता है। यह अंडाशय के सामान्य कार्य में हस्तक्षेप करके अन्य जटिलताओं के साथ ही अनियमित चक्र और बांझपन जैसी दिक्कत पैदा कर सकता है।
  2. अंडरएक्टिव या ओवरएक्टिव थायराइड – थायराइड शरीर में हर प्रक्रिया को नियंत्रित करता है। हाइपो- या हाइपरथायरायडिज्म  के कारण बांझपन, वजन में बदलाव, अवसाद, चिंता और कई अन्य लक्षण पैदा हो सकते हैं। उपचार शुरू करके थायराइड स्तर सामान्य होते ही तेजी से गर्भवती होने की संभावना अधिक होती है।
  3. हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया – इस स्थिति में प्रोलैक्टिन हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है। यह हार्मोन स्तन के दूध के उत्पादन को उत्तेजित करता है और यह हार्मोन हाइपोथैलेमिक-पिट्यूटरी-ओवरियन चेन में हस्तक्षेप करके और ओव्यूलेशन को अवरुद्ध करके प्रजनन क्षमता को भी कम कर सकता है।
  4. वजन संबंधी दिक्कतें – जल्दी से गर्भवती होने के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखना सबसे महत्वपूर्ण है। अधिक वजन या कम वजन दोनों अनियमित चक्र, हार्मोनल असंतुलन और ओव्यूलेशन विकार पैदा कर सकते हैं।
Irregular periods अनियमित मासिक धर्म
अनियमित मासिक धर्म से परेशान महिला / स्रोत – पिक्साबे

अनियमित माहवारी के साथ जल्दी गर्भवती कैसे हों?

स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता यानी हेल्थ केयर प्रोवाइडर अनियमित मासिक धर्म का निदान करके उपचार का सुझाव दे सकता है। इसके साथ ही कुछ ऐसी बातें भी हैं, जिनपर गौर किया जाए, तो आप स्वाभाविक रूप से अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) के साथ जल्दी गर्भवती हो सकती हैं। हालांकि, ये चिकित्सा उपचार तो नहीं हैं, लेकिन गर्भधारण की संभावना को बेहतर कर सकती हैं।

1. ओव्यूलेशन को ट्रैक करें

मासिक धर्म कैलेंडर का उपयोग करके अपने उपजाऊ दिनों का पता लगाएं। इसका पता लगाने के लिए ओव्यूलेशन ट्रेकिंग एप्लिकेशन का उपयोग कर सकते हैं। एप्लिकेशन की मदद से प्रत्येक चक्र की लंबाई की गणना भी की जा सकती है। फिर अपने उपजाऊ दिनों में कंसीव करने की कोशिश करें।

प्राकृतिक तरीके से पता लगाने के लिए अपने बॉडी टेम्परेचर पर ध्यान दें। इन दिनों शरीर हल्का गर्म रहता है। साथ ही पेट के निचले हिस्से में हल्का दर्द रहेगा और सर्वाइल म्यूकस में बदलाव होगा। इसकी मात्रा बढ़ जाएगी और यह साफ रंग का और चिपचिपा होगा। 

2. सहवास ज्यादा करें

गर्भधारण की गुंजाइश बढ़ाने के लिए बार-बार सेक्स करना भी जरूरी है। खासकर अपने फर्टाइल डेज के आसपास पार्टनर के साथ संबंध स्थापित करके आप तेजी से गर्भ धारण करने की संभावना को बढ़ा सकती हैं। 

याद रखें कि शरीर में स्पर्म पांच दिनों तक रहता है। इसका मतलब है कि अनियमित चक्र में भी पूरे महीने में दो से तीन दिन के अंतराल में सेक्स करने से तेजी से गर्भधारण करने की संभावना को बढ़ाया जा सकता है।

3. अच्छी आदतों को अपनाएं

शरीर स्वस्थ होगा, तो अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) की दिकक्त भी दूर रहेगी और तेजी से गर्भधारण करने में मदद मिलेगी। जीवनशैली में स्वस्थ बदलाव करने से तेजी से गर्भवती होने और स्वस्थ गर्भावस्था को बनाए रखने में मदद मिल सकती है। यहां स्वस्थ आदत के बारे में बताया गया है, जो गर्भधारण करने की संभावनाओं को बेहतर कर सकती हैं:

  • धूम्रपान छोड़ना
  • शराब का सेवन न करना
  • कैफीन की मात्रा को कम करना 
  • पूरी नींद लेना
  • सक्रिय जीवन शैली बनाए रखना


4. स्वस्थ वजन बनाए रखें

स्वस्थ वजन से प्रजनन संबंधी समस्याओं से निपटने में मदद मिल सकती है। अधिक वजन और कम वजन दोनों ही हार्मोनल असंतुलन का कारण बनते हैं, जो ओव्यूलेशन को बाधित कर सकते हैं। इससे मासिक चक्र अनियमित हो सकते हैं और स्वाभाविक रूप से गर्भवती होना कठिन हो जाता है। इसके अतिरिक्त, मध्यम व्यायाम प्रजनन क्षमता के लिए फायदेमंद हो सकता है।


5. स्वस्थ आहार लें

शोध से पता चलता है कि स्वस्थ भोजन खाने से प्रजनन क्षमता में सुधार हो सकता है। हालांकि, ऐसा कोई खास “प्रजनन आहार” नहीं होता, जो फर्टिलिटी को बढ़ा सके। लेकिन कई खाद्य पदार्थ गर्भधारण की संभावनाओं को बेहतर कर सकते हैं। ये स्वस्थ आहार कुछ इस प्रकार हैं –  

  • स्वस्थ वसा
  • पत्तेदार साग-सब्जी
  • नट्स और स्वस्थ सीड्स
  • ताजा और मौसमी फल
  • दही और पशु से पर्याप्त अन्य खाद्य पदार्थ
  • कॉम्प्लेक्स कार्ब्स, जैसे रोटी या पास्ता के साथ फलियां (legumes) और आलू

जल्दी गर्भवती होने में आने वाली बाधाओं को सुधारने के लिए इन खाद्य पदार्थों को संतुलित आहार में शामिल करें। साथ ही भरपूर पानी भी पिएं। 

गर्भ धारण करने की कोशिश करते समय तले हुए खाद्य पदार्थ, रिफाइंड चीनी सोडा और पैक किए हुए फलों के रस, सफेद ब्रेड, रेडी-टू-ईट ब्रेकफास्ट, ट्रांस फैट और उच्च पारा वाली मछली के सेवन से जरूर बचें।

6. खुश रहें

तनाव का पूरे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसमें मासिक धर्म चक्र और प्रजनन क्षमता भी शामिल हैं। अनियमित पीरियड्स के साथ जल्दी गर्भवती होना है, तो खुद को स्ट्रेस से दूर रखें। चिंता और तनाव सीधे-सीधे ओव्यूलेशन पर असर डालते हैं।

तनाव और चिंता ओव्यूलेशन में देरी कर सकते हैं। शोध से पता चला है कि अधिक तनाव लेने से अनियमित चक्र और एमेनोरिया (छह महीने से अधिक समय तक मासिक धर्म न होना) की आशंका रहती है।

विडंबना यह है कि सक्रिय रूप से गर्भधारण की कोशिश करते समय तनाव हो सकता है। कुछ तनाव प्रबंधन तकनीकों को दिनचर्या में शामिल करके इन्हें मैनेज करें। इसके लिए स्ट्रेच मैनेजमेंट कोर्स भी कर सकती हैं।

व्यायाम करना, स्वस्थ आहार लेना, योग करना और खराब आदतों को छोड़कर मासिक चक्र को नियंत्रित किया जा सकता है। साथ ही मासिक धर्म में देरी से जुड़ा उचित इलाज करने के लिए डॉक्टर से भी संपर्क करें। स्वस्थ जीवनशैली और स्वास्थ्य प्रदाता द्वारा मिले सुझावों से तेजी से गर्भधारण करना आसान हो जाएगा। 

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop