• Home  /  
  • Learn  /  
  • नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करें घर पर ही, जानें तरीका
नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करें घर पर ही, जानें तरीका

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करें घर पर ही, जानें तरीका

21 Jun 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 550 Articles

गर्भधारण की कोशिश कर रही महिलाएं अपनी प्रेगनेंसी को कंफर्म करने के लिए बेताब रहती हैं। ऐसे में कभी-कभी वो घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट भी करती हैं। अब हर समय घर में प्रेगनेंसी टेस्ट किट होना मुमकिन नहीं। इसलिए, पीरियड मिस होते ही उत्सुकता में महिलाएं नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट (namak se pregnancy test) कर लेती हैं। आइए, नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (namak se pregnancy test kaise kare) और नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम कितने सटीक होते हैं, यह सब आगे जानते हैं।

क्या प्रेगनेंसी किट के अलावा नमक से भी किया जा सकता है प्रेगनेंसी टेस्ट? (Can Pregnancy Test Be Done With Salt in Hindi ?)

हां, इस डू इट योरसेल्फ DIY जमाने में महिलाएं प्रेगनेंसी किट के अलावा नमक से भी प्रेगनेंसी टेस्ट करती हैं। यह नॉन मेडिकल तरीकों से किए जाने वाले टेस्ट में शामिल है। 

इससे किसी तरह का नुकसान नहीं होता। इसलिए, महिलाएं उत्सुकता में यह टेस्ट कर लेती हैं। भले ही नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने से जुड़ा कोई शोध मौजूद नहीं है, लेकिन यह प्रेगनेंसी टेस्ट महिलाओं में बहुत प्रचलित है। 

चलिए, आगे नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट से जुड़ी अन्य बातें जानते हैं।  

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए? (When Should You Do the Salt Pregnancy Test in Hindi?)

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट में भी प्रेगनेंसी किट से किए जाने वाला टेस्ट की तरह ही एचसीजी (hCG- human chorionic gonadotropin) हॉर्मोन का स्तर जांचा जाता है। दरअसल, गर्भधारण करने के बाद एचसीजी हार्मोन का स्तर महिला के यूरिन में धीरे-धीरे बढ़ता है। इसलिए, नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड्स मिस होने के बाद ही करना चाहिए। 

प्रेगनेंसी किट से टेस्ट करते समय भी ऐसा ही किया जाता है। क्योंकि, किट भी प्रेगनेंसी टेस्ट रिजल्ट hCG हार्मोन के आधार पर ही देती है। इसलिए माना जाता है कि यूरिन में मौजूद hCG हार्मोन का स्तर बढ़ने पर यह नमक के साथ प्रतिक्रिया करता है। इसी प्रतिक्रिया के हिसाब से ही नमक प्रेगनेंसी टेस्ट (Namak se pregnancy test) के परिणाम का अनुमान लगाया जाता है।

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए किन चीजों की जरूरत होगी? (Requirements for Salt Pregnancy Test in Hindi)

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट (Namak se pregnancy test) के लिए भी प्रेगनेंसी किट की तरह ही यूरिन की जरूरत पड़ती है। सटीक प्रेगनेंसी परिणाम के लिए सुबह का सबसे पहला यूरिन लिया जाता है। इसके अलावा, आपको चाहिए होगा एक एक चम्मच सफेद नमक और दो कंटेनर। 

आगे नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका (ghar par pregnancy test kaise kare) पढ़ें। 

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (How To Do Pregnancy Test With Salt In Hindi)

सारा सामान इकट्ठा करने के बाद सोच रहे हैं कि नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (Namak se pregnancy test kaise kare)? नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका काफी आसान है। 

  1. आपको नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट (Namak se pregnancy test) के लिए सबसे पहले एक साफ कंटेनर में सुबह का पहला यूरिन डालना होगा।
  2. फिर दूसरे साफ कंटेनर में एक चम्मच नमक डाल दें।
  3. इतना करने के बाद धीरे-धीरे यूरिन को नमक वाले कंटेनर में डालें।
  4. अब थोड़ा इंतजार करें। आपको नमक और यूरिन के मिलने पर होने वाली प्रतिक्रिया दिखेगी। यह समय कुछ मिनट से लेकर घंटे तक हो सकता है।

इस प्रतिक्रिया से ही नमक प्रेगनेंसी टेस्ट (Namak se pregnancy test in Hindi) का रिजल्ट पता चलता है। इसे समझने के लिए जानिए कि नमक प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे काम करता है। 

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे काम करता है? (How Salt Pregnancy Works in Hindi?)

सोच रहे हैं कि नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका कैसे काम करता है, तो जान लीजिए कि एचसीजी हार्मोन के स्तर से ही गर्भावस्था का पता लगता है। माना जाता है कि एचसीजी हार्मोन नमक के साथ मिलने पर प्रतिक्रिया करता है। 

इसके अलावा, लोगों का मानना यह भी है कि यूरिन में मौजूद यूरिक एसिड नमक में मौजूद सोडियम व क्लोराइड मिनरल्स के साथ मिलने पर रसायनिक प्रतिक्रिया करता है। इस प्रतिक्रिया के दौरान पेशाब का रंग बदल जाता है। 

इसी बदलाव के आधार पर महिलाएं नमक प्रेगनेंसी टेस्ट (Namak se pregnancy test in Hindi) का अनुमान लगाती हैं। हालांकि, इससे जुड़ा कोई वैज्ञानिक तथ्य मौजूद नहीं है। न ही कोई कारण मौजूद है कि hCG नमक के साथ रिएक्ट क्यों करेगा। 

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (Ghar par pregnancy test kaise kare), समझने के बाद इसके रिजल्ट का कैसे पता लगाएं, यह जानते हैं।

नमक प्रेगनेंसी टेस्ट के रिजल्ट को कैसे समझें? (How to Read Salt Pregnancy Test Results in Hindi?)

प्रेगनेंसी कैसे चेक करें घरेलू उपाय नमक से (Namak se pregnancy test) यह तो आप जान गई हैं। अब प्रेगनेंटी टेस्ट के रिजल्ट को कैसे समझें, यह जानना भी जरूरी है। किन आधार पर नमक प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव और नेगेटिव होता है, आगे जानते हैं।

पॉजिटिव नमक प्रेगनेंसी टेस्ट – Positive Salt Pregnancy Test

अगर पेशाब का रंग नमक के संपर्क में आने के बाद दूध जैसा या फिर पेशाब झागदार व गाढ़ा हो जाए, तो माना जाता है कि महिला गर्भवती है।

नेगेटिव नमक प्रेगनेंसी टेस्ट – Negative Salt Pregnancy Test

लंबे समय तक अगर यूरिन और नमक के मिश्रण में किसी तरह का बदलाव नहीं होने पर प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव माना जाता है। 

अब नमक से नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं, यह तस्वीरों  (Namak se pregnancy test image) पर नजर डालकर समझते हैं।

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट की तस्वीरें (Namak se Pregnancy Test Image)

हम आपको आगे नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (Salt se pregnancy test kaise kare), इसका जवाब हम तस्वीरों के माध्यम से भी दे रहे हैं। बस ध्यान दें कि इसकी सटीकता पर किसी तरह का प्रमाण मौजूद नहीं है, इसलिए गर्भावस्था को कंफर्म करने के लिए प्रयोगशाला से ब्लड टेस्ट या यूरिन टेस्ट जरूर करवाएं। आगे नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट इमेज (Namak se pregnancy test image) के माध्यम से देखते हैं कि नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे किया जाता है।

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें  समझने के लिए  nmk se pregnancy test image
सबसे पहले नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए एक चम्मच नमक लें (Namak se pregnancy test image)
नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें  समझने के लिए  nmk se pregnancy test image
अब सुबह का सबसे पहला यूरिन एक कंटेनर में निकाल लें (Namak se pregnancy test image)
नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें  समझने के लिए  nmk se pregnancy test image
फिर एक बाउल या कंटेनर में नमक में यूरिन डालकर मिक्स कर लें और परिणाम का इंतजार करें (Namak se pregnancy test image)

इन तस्वीरों के अलावा आप नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें वीडियो भी देख सकती हैं। ऐसे कई वीडियो ऑनलाइन मौजूद हैं, जो विस्तार से बताएंगे कि नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं। बस इस नमक प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम पर पूरी तरह भरोसा न करें।

क्या नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट सही है? क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स (How Accurate is Salt Pregnancy Test in Hindi?)

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट महज एक अनुमान के लिए किया जाता है। यह एकदम सटीक प्रेगनेंसी रिजल्ट नहीं देता है। नमक प्रेगनेंसी टेस्ट की तरह ही चीनी और टूथपेस्ट से भी प्रेगनेंसी टेस्ट किया जाता है। ये टेस्ट प्रेगनेंसी की पुष्टि नहीं कर पाते हैं। 

दरअसल, नमक प्रेगनेंसी टेस्ट से जुड़े विश्वसनीय शोध या तथ्य मौजूद नहीं है। यह टेस्ट महज लोगों की मान्यता पर आधारित है। हो सकता है कि कुछ मामलों में यह प्रेगनेंसी की सही जानकारी दे और कुछ में नहीं। सही परिणामों को संयोग से ज्यादा कुछ नहीं माना जा सकता है।

इस मामले में डॉक्टर भी कहते हैं कि प्रेगनेंसी कंफर्म करने के लिए हमेशा क्लिनिक में चेकअप के बाद ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए। यह प्रेगनेंसी की पुष्टि करने का विश्वसनीय तरीका है। एक दूसरे की बात सुनकर लोगों ने धारणा बना ली है कि नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करके गर्भावस्था की पुष्टि की जा सकती है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। 

इसलिए, नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं यह जानने के बाद सिर्फ इसी टेस्ट तक सीमित रहना सही नहीं है। गर्भवतियों को समझदारी के साथ लैब से टेस्ट जरूर करवाना चाहिए।

डॉक्टर से कब संपर्क करें?

नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे किया जाता है, यह आप समझ ही गए हैं। लेकिन, घर में नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट करने का परिणाम चाहे जो भी हो, आपको पीरियड्स मिस करने के बाद डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिए। इसके अलावा, प्रेगनेंसी के लक्षण नजर आने लगे, तो भी चिकित्सक को दिखाएं। गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों में थकान, जी मिचलाना, उल्टी आना, मूड स्विंग  मॉर्निंग सिकनेस, स्तनों में दर्द, आदि शामिल है।

गर्भधारण करने की खुशखबरी का इंतजार है और सोच रही हैं कि प्रेगनेंसी कैसे चेक करें घरेलू उपाय से, तो आप अपने खाली समय में नमक से प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकती हैं। हमने घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें (salt se pregnancy test kaise kare), यह ऊपर विस्तार से बताया है। बस नमक प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम को अंतिम न मानें। हमेशा प्रेगनेंसी को कंफर्म करने के लिए डॉक्टर की सलाह में प्रयोगशाला से प्रेगनेंसी टेस्ट करवाना चाहिए। 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs) :

प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद करना चाहिए?

अपने मासिक धर्म के पहले दिन के बाद तक प्रतीक्षा करके प्रेगनेंसी टेस्ट करने से अधिक सटीक परिणाम मिलते हैं। वजह यह है कि पेशाब में गर्भावस्था हार्मोन (ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन -hCG) की मात्रा समय के साथ बढ़ती है। अगर आप जल्दी परीक्षण करेंगी, तो टेस्ट में एचसीजी का पता लगाना कठिन होगा।

प्रेगनेंसी के बारे में कब पता चलता है?

प्रेगनेंसी का पता खून में hCG हार्मोन के बढ़ने से ही लगाया जाता है। हां, अगर सामान्य तरीके से बात करें, तो कुछ महिलाओं को कंसीव करने के 6 से 7 दिनों में ही पता चल जाता है और कुछ महिलाओं को दो-तीन महीने में पता चलता है।

क्या वाइट डिस्चार्ज प्रेगनेंसी के लक्षण में से एक है?

प्रेगनेंसी में वाइट डिस्चार्ज होना सामान्य है। कुछ महिलाओं को यह होता है और कुछ को नहीं। इसलिए हां, कुछ महिलाओं के लिए वाइट डिस्चार्ज प्रेगनेंसी के लक्षण में से एक हो सकता है।

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop