• Home  /  
  • Learn  /  
  • गर्भावस्था में सिरदर्द से जुड़ी सारी जरूरी बातें
गर्भावस्था में सिरदर्द से जुड़ी सारी जरूरी बातें

गर्भावस्था में सिरदर्द से जुड़ी सारी जरूरी बातें

23 Jun 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 554 Articles

सिरदर्द होना आम है। लेकिन प्रेगनेंसी के समय में तेज सिरदर्द से महिलाओं को शंका होने लगती है कि उनकी गर्भावस्था में कोई दिक्कत तो नहीं। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि प्रेगनेंसी में सिरदर्द होना कितना आम है। साथ ही आप जानेंगे कि  प्रेगनेंसी में सिरदर्द होने पर क्या करना चाहिए। यहां हमने प्रेगनेंसी में सिर दर्द से बचने के घरेलू उपाय, सिरदर्द के लक्षण और अन्य जरूरी जानकारी दी है।

क्या गर्भावस्था में सिरदर्द होना सामान्य है?

हां, गर्भावस्था में सिरदर्द होना एकदम सामान्य है। एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध में कहा गया है कि प्रेगनेंसी के समय और प्रसव के बाद करीब-करीब 39 प्रतिशत महिलाओं में सिरदर्द की शिकायत रहती है

क्या प्रेगनेंसी में सिरदर्द किसी बीमारी का संकेत हो सकता है?

हां, रिसर्च के दौरान गर्भावस्था में हाई ब्लड प्रेशर (एक्लम्पसिया की शुरुआत) होने से पहले 30 से 50 प्रतिशत तक महिलाओं में सिरदर्द की दिक्कत नहीं पाई गई। अध्ययन में कहा गया है कि सेरिब्रल और देखने में गड़बड़ी के साथ सिरदर्द हो, तो यह प्री-एक्लेम्पसिया व प्रेगनेंसी में हाई ब्लड प्रेशर का संकेत हो सकता है।

गर्भावस्था में सिरदर्द होने के कारण

गर्भावस्था में सिरदर्द क्यों होता है (Pregnancy Me Sar Dard Kyu Hota Hai) सोच रही हैं, तो इसके बहुत से कारण हो सकते हैं। हम आगे आपको तिमाही के आधार पर गर्भावस्था में सिरदर्द होने के कारण बता रहे हैं। 

प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में सिरदर्द होने का कारण 

  • हार्मोनल बदलाव
  • थकान के कारण
  • धूप या गर्मी के कारण
  • रक्त प्रवाह के बढ़ने से
  • साइनस की दिक्कत की वजह से
  • शरीर में पानी की कमी के चलते
  • तीव्र गंध या कोई विशेष आहार
  • आंखों में दर्द या दृष्टि में बदलाव होने से

प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में सिरदर्द होने का कारण 

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में सिरदर्द होने का कारण

एनसीबीआई की वेबसाइट में मौजूद एक अध्ययन में लिखा है कि तीसरी तिमाही में सिरदर्द होना सामान्य है। पहली तिमाही की सभी स्थितियां तीसरी तिमाही में भी सिरदर्द होने का कारण बन सकती हैं। 

प्रेगनेंसी में सिरदर्द के कारण । Pregnancy Mein Sar Dard
प्रेगनेंसी में सिरदर्द से परेशान महिलाएं सिरदर्द दूर करने के उपाय घर में कर सकती हैं /स्रोत -फ्रीपिक

गर्भावस्था में सिरदर्द होने के लक्षण

गर्भावस्था में सिरदर्द के लक्षण दिखते हैं, जिन्हें समझकर आप सही समय पर सही कदम उठा सकती है। 

  • सिर भारी लगना
  • जी-मिचलाना
  • उल्टी का मन होना
  • हल्का सिर घूमना व चक्कर आना
  • आंखों में कुछ लाइट की चमक दिखना
  • कुछ देर के लिए चीजें धुंधली व अजीब दिखना

सिरदर्द के साथ ही कुछ अन्य जैसे आंखों में दर्द, लालीमा व जलन हो, तो सीधे डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रेगनेंसी में सिरदर्द कितने तरह के होते हैं?

सामान्य दिनों की तरह ही गर्भावस्था में भी नॉर्मल सिरदर्द, माइग्रेन वाला दर्द, टेंशन वाला दर्द, कलस्टर सिरदर्द, साइनस सिरदर्द, प्री-एक्लेम्पसिया से होने वाला सिरदर्द हो सकता है

माइग्रेन – गर्भावस्था में माइग्रेन वाला दर्द होना आम है। यह दर्द सिर के एक हिस्से में महसूस होता है। इस दौरान धुंधला दिखना, हाथ-पैर में झनझनाहट, आंखों में चमकदार रोशनी, स्पॉट्स दिखने जैसा एहसास हो सकता है।

टेंशन वाला सिरदर्द – टेंशन टाइप सिरदर्द गर्भावस्था में करीब 26 प्रतिशत महिलाओं को होता है। इसकी वजह पूरी नींद न लेना, आने वाले बच्चे को लेकर चिंता, मौजूदा स्थिति को लेकर चिंता, आदि हो सकते हैं।

क्लस्टर सिरदर्द – सिरदर्द की यह गंभीर स्थिति मानी जाती है। इस दौरान एक ही हिस्से में बार-बार दर्द होता है।  यह तीव्र दर्द सिर के एक तरफ या एक आंख घंटों रह सकता है। रात को अचानक भी यह दर्द उठ सकता है। अधिकतर क्लस्टर सिरदर्द हार्मोनल बदलाव, धूम्रपान, शराब या फिर तेज रोशनी से होता है।

साइनस सिरदर्द –  प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में साइनस सिरदर्द होना आम है। ठंड के दिनों में यह दर्द ज्यादा हो सकता है।

प्रेगनेंसी में सिरदर्द दूर करने के लिए टिप्स

प्रेगनेंसी में सिरदर्द की दवा बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेनी चाहिए। हां, आप प्रेगनेंसी में सिरदर्द दूर करने के घरेलू उपाय (Pregnancy Mein Sar Dard Dur Karne ke Gharelu Upay) व टिप्स अपना सकती हैं।

  • सिर दर्द दूर करने का सबसे पहला और आसान तरीका पानी पीना है। सिरदर्द शरीर में पानी की कमी के कारण हो सकता है।
  • मसाज करके प्रेगनेंसी में सिरदर्द को दूर किया जा सकता है। सामान्य सिरदर्द और माइग्रेन दोनों में इससे आराम मिलता है।
  • सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया यानी प्राणायाम व योग से प्रेगनेंसी का सिरदर्द कम हो सकता है। आप गर्भावस्था में योग से जुड़ी जानकारी प्रशिक्षित योग गुरु से लें।
  • भाप लेना भी सिरदर्द को ठीक करने का अच्छा तरीका माना जाता है। यह साइनस और किसी एलर्जी के कारण सिरदर्द से परेशान गर्भवती महिलाओं को आराम दे सकता है। यह उपाय बिना डॉक्टर से पूछे न अपनाएं।
  • तनाव कम लेने और फलों का ज्यादा सेवन करने से भी सिरदर्द कुछ कम हो सकता है।
  • सिरदर्द गर्मी के कारण हो रहा है, तो नहाने से भी कुछ राहत मिल सकती है।
  • भरपूर आराम करें और पूरी नींद लें।
  • सिरदर्द को कम करने के लिए आइस पैक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

भले ही प्रेगनेंसी में सिरदर्द होना सामान्य हो, लेकिन कुछ स्थितियों में  सिरदर्द होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जैसे कि हमने बताया है कि सिरदर्द प्री-एक्लेम्पसिया का लक्षण भी हो सकता है। अगर सिरदर्द के साथ आंखों की रोशनी में बदलाव लगे या फिर चेहरे व हाथ पैर सूज जाएं, तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

सिरदर्द के साथ पसलियों में दर्द होना भी अच्छा संकेत नहीं है। इसी वजह से बिना देरी के विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। अपनी मर्जी से प्रेगनेंसी में सिरदर्द की दवा न लें। इससे गर्भवती महिला और भ्रूण के स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ सकता है।

Banner Image Source – freepik

like

13

Like

bookmark

1

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop