बच्चों में फ्लैट पैरों की पहचान कैसे करें

cover-image
बच्चों में फ्लैट पैरों की पहचान कैसे करें

फ्लैट पैर,जिसे पेस प्लानस भी कहा जाता है,कमजोर पैर की मांसपेशियों और स्नायु बंधन के कारण 1 से 5 साल के बीच के बच्चों में यह काफी आम है एक बार जब बच्चे चलना शुरू कर देते है तो वह मजबूत हो जाते है और स्थिति खुद से ठीक हो जाती है । पैर एक प्राकृतिक चाप विकसित करता है जो चलने और दौड़ने के लिये उचित स्थिरता और संतुलन प्रदान करता है ।


फ्लैट फीट को समझना


एड़ी से बड़े पैर के उंगली के आधार तक एक आर्च होता है यदि यह मेहराब गायब है  और पूरी तरह से खड़े और चलते समय जमीन को छुती है तो पैर को फ्लैट कहा जाता है । फ्लैट पैर में कोई दर्द नही होता यह स्थिति आपके बच्चे के शरीर के संरेखण को प्रभावित कर सकती है और घुटने और टकने में कुछ परेशानी पैदा कर सकती है ।


फ्लैट फीट के कारण


बच्चों में फ्लैट पैरो के कुछ मुख्य कारण इस प्रकार हैः


1. लचीली हड्डियां और जोड़ः 05 साल से कम उम्र के बच्चों में लचीली हड्डियां और जोड़ होते है और इस वजह से पैर का आर्च चपटा होता है ।
2. मोटा पैडः नवजात शिशुओं के पैरो में एक मोटा पैड होता है जो चाप को छुपाता है जब बच्चे खड़े होते है या चलते है ।
3. कमजोर मांसपेशी टोनः कमजोर मासपेशी टोन एक और प्रमुख कारण है ,इसमे पैर की आंतरिक सीमा मे एक खराब मेहराब होता है और एडी की हड्डी बाहर की तरफ झुकी हुई होती है.
4. संयुक्त अतिसक्रीयता: सामान्य सीमा से ज्यादा के साथ जोडो के कारण बच्चो के वजन के नीचे पैर के अर्क गायब हो जाते है.
5. स्नायुजाल: एडी की हड्डी की जकडन पैरो की मुक्त गति को रोकती है. जिसकी वजह से पैर सपाट होते है.


फ्लैट पैर के लक्षण क्या है?


अगर आपके बच्चे के पैर लचीले है और जब बच्चा अपने पैर कि उंगली पर खडा होता है और आप अर्क को देख पा रहे है तो घबराने की जरुरत नही है . और अगर आपके बच्चे के पैर कडे है और मेहराब दिखाई देता है तो आपको ध्यान देने की जरुरत है यह मामला फ्लैट पैरो का हो सकता है.


फ्लैट पैर के अन्य लक्षण है:

 

  • एडी बाहर की ओर झुकना
  • चलने मे परेशानी आना
  • घुटने और पैर मे दर्द और कोमलता
  • पैरो का कमजोर विकास
  • शारीरिक गतीविधियो को करने मे परेशानी आना


बच्चो मे फ्लैट पैरो को ठीक कैसे करे


बाल रोग विशेषज्ञ द्वारा फ्लैट पैरो से निदान पाया जा सकता है. डॉक्टर बच्चे के दोनो पैरो की जांच करता है और बच्चे के खडे होने पर और बैठने पर देखता है कि क्या आर्च मौजूद है. यदि मेहराब अनुपस्थित है ,लेकीन बच्चे को कोई दर्द नही है तो आगे का परीक्षण जरुरी नही हो सकता है.


अगर बच्चे को दर्द और बेचैनी होती है तो डॉक्टर को जांच करने के लिए एक्स रे, सीटी स्केन और एमआरआई जैसे कुछ इमेजिंग परीक्षण करने होंगे.


बच्चो मे फ्लैट पैरो के लिए उपचार


अगर आपके बच्चे के फ्लैट पैर का उपचार किया जाता है तो निम्लिखित गैर-सर्जीकल उपचार मदद कर सकते है:

  • आर्क सपोर्ट डिवाइसेस: यह यंत्र आपके बच्चे के जूते के अंदर फिट करने से दर्द और परेशानी दूर हो सकती है.
  • अभ्यास: ऐसे व्यायाम जो एचलीस टेनडन को फैलाने मे मदद करते है ,सपाट पैरो के लक्षणो को कम कर सकते है.
  • सही जूते: फ्लैट और फ्लिप फ्लोप के बजाय आर्च समर्थन प्रदान करने वाले जूते उपयोग करे.
  • विश्राम करना : बच्चे को आराम करने को कहे और ऐसे मे दौडने कूदने जैसी गतिविधियो से बचे.
  • दवाई: ज्यादा दर्द और सूजन के मामले मे, बेचैनी और दर्द के लिये दवाई दे. लचीले फ्लैट पैरो के लिये सर्जरी ठीक नही है ,यदि हड्डीयो के बीच संलयन के लिये सर्जरी की जा सकती है.


उपसंहार: फ्लैट पैर ज्यादातर मामलो मे एक गंभीर स्थिति नही हो सकती है और फ्लैट पैर वाले बच्चे सामान्य जीवन जी सकते है यदि आपके बच्चे के पैर फ्लैट है और दर्द और परेशानी रहती है तो अपने चिकित्सक से जल्द सलाह ले ।

 

यह भी पढ़ें: अवरुद्ध आँसू वाहिनी - लक्ष्ण, कारण एवं उपचार

 

#babychakrahindi
logo

Select Language

down - arrow
Personalizing BabyChakra just for you!
This may take a moment!