• Home  /  
  • Learn  /  
  • सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाना कितना सही है?
सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाना कितना सही है?

सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाना कितना सही है?

8 Aug 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 554 Articles

भारतीय रसोई घी के बिना अधूरी है। घी का तड़का, घी चुपड़ी हुई रोटी, घी में बनी सब्जी, आदि का इस्तेमाल यहां आए दिन होता है। ऐसे में आपको यह जान लेना चाहिए कि सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी का सेवन करने कितना सही है या कितना गलत। इस लेख में हम आगे विस्तार से सी-सेक्शन के बाद घी खाना सुरक्षित है या नहीं और घी खाने के फायदे और नुकसान का जिक्र करेंगे।

क्या ​सी-सेक्शन के बाद घी खाना चाहिए? | Should I eat Ghee after C-section in Hindi?

हां, देसी घी का सेवन सिजेरियन डिलीवरी के बाद कर सकते हैं। लैक्टेशन और न्यूट्रिशन एक्सपर्ट, डॉक्टर पूजा मराठे ने बताया, “घी खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है। यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया को पोषण देता है और कब्ज से राहत दिलाता है। साथ ही शरीर को दोबारा हाइड्रेट करने और पोषण देने में भी घी मददगार है। घी ब्रेस्ट मिल्क को भी बनाने का कार्य करता है। इसी वजह से सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी का सेवन किया जाना चाहिए।”

यही नहीं, घी में वसा यानी फैट होता है। यह खाने के ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) को कम करने की क्षमता रखता है। परिणाम स्वरूप यह रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। यही नहीं, घी में मौजूद वसा डिलीवरी के बाद महिला को पर्याप्त ऊर्जा देता है। इसमें मौजूद वसा इम्यूनिटी के निर्माण में भी मदद करता है। साथ ही घी से मेटाबॉलिज्म भी मजबूत होता है। बस घी का सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के फायदे | Benefits of Ghee after Cesarean Delivery

देसी घी खाने के फायदे जिस तरह सामान्य समय में मिलते हैं ठीक उसी तरह सिजेरियन डिलीवरी के बाद भी मिलते हैं। ऊपर से सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला का शरीर कमजोर हो जाता है, इसलिए इन दिनों महिला के शरीर को घी की अधिक आवश्यकता होती है। देसी घी में एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल्स, जरूरी वसा, विटामिन, फैटी एसिड, आदि होते हैं। यह महिला को ऊर्जा देने के साथ ही कई अन्य फायदे भी देते हैं। चलिए, आगे जानते हैं सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के फायदे।

पोषण – सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी का सेवन करने से शरीर को पर्याप्त पोषण मिलता है। बस इसके लिए घर में बने हुए देसी घी का ही सेवन करें। इससे असली मायने में घी खाने के फायदे मिलेंगे।

पाचन – गर्भावस्था में और प्रसव के बाद महिला को अपच व कब्ज जैसी दिक्कतें रहती हैं। ऐसे में घी का सेवन करने से पाचन स्वास्थ्य बेहतर हो सकता है। घी से कब्ज की शिकायत दूर हो सकती है। आयुर्वेद के अनुसार भी घी खाने से पाचन तंत्र बेहतर रहता है। साथ ही यह पचाने में भी हल्का होता है।

एनर्जी – सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी का सेवन करने से इसमें मौजूद कैलोरी शरीर को ऊर्जा देने का काम करती है। बताया जाता है कि 50 ग्राम घी में करीब 450 केसीएल ऊर्जा होती है। इससे प्रसव के बाद महिला को जरूरी एनर्जी मिलती है।

इम्यूनिटी – रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी बढ़ाने में भी घी मददगार साबित हो सकता है। एक रिसर्च पेपर में भी इस बात का जिक्र मिलता है कि घी से इम्यूनिटी में सुधार हो सकता है।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं, इसलिए इसकी मात्रा पर जरूर गौर करें।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के नुकसान | Disadvantages of Ghee after Cesarean Delivery in Hindi

सी-सेक्शन के बाद घी खाने के फायदे कई हैं, लेकिन इसकी अधिकता होने पर इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के नुकसान कुछ इस प्रकार हैं – 

  • उच्च कैलोरी डाइट लेने वाले अगर घी का सेवन ज्यादा करते हैं तो उन्हें मोटापे की शिकायत हो सकती है।
  • जरूरत से ज्यादा घी खाने से कोलेस्ट्रॉल की दिक्कत हो सकती है।
  • हृदय रोगी को अधिक मात्रा में घी खाने से बचना चाहिए। वरना हृदय रोग बढ़ सकता है।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद कितना घी खा सकते हैं? | How much Ghee can be taken after Cesarean Delivery in Hindi?

सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। इसी वजह से घी की मात्रा को सीमित रखना जरूरी है। एक स्वस्थ महिला एक दिन में करीब 70 से 80 ग्राम घी का सेवन कर सकती है। अगर कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर से घी की सही मात्रा पूछ सकते हैं। किसी समस्या से जुझ रहे लोग डॉक्टर से पूछकर अंदाजन 30 से 40 ग्राम घी का सेवन कर सकते हैं।

सारांश | Conclusion

ये थी सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी से जुड़ी जरूरी बातें। यहां हमने सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी खाने के फायदे और नुकसान दोनों का जिक्र किया है। आप अपनी सूझबूझ के साथ सही मात्रा में ही घी का सेवन करें। एहतियातन आप अपने डॉक्टर व डायटीशियन से भी इस बारे में जानकारी ले सकते हैं। वो आपको सिजेरियन डिलीवरी के बाद घी की सही मात्रा की जानकारी देंगे।

चित्र स्रोत – freepik

संबंधित लेख –

डिलीवरी के बाद योनि संक्रमण 

वजाइनल डिस्चार्ज

क्या स्तनपान कराने के दौरान मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना सही है?

शिशु स्तनपान करने में क्यों आनाकानी करते हैं, जानें

जानिए स्तनपान कराने वाली माँ के लिए स्वस्थ आहार

Breast Milk Composition : समय के साथ बदलती माँ के दूध की संरचना

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop