• Home  /  
  • Learn  /  
  • प्रेग्नेंसी के दौरान बालों में क्या बदलाव आते हैं?
प्रेग्नेंसी के दौरान बालों में क्या बदलाव आते हैं?

प्रेग्नेंसी के दौरान बालों में क्या बदलाव आते हैं?

2 Mar 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 554 Articles

प्रेग्नेंसी महिलाओं के लिए काफी खास समय होता है। लेकिन इसमें भी कोई दो राय नहीं कि इस दौरान महिलाओं को कई मुश्किलों से गुजरना पड़ता है। शरीर का बढ़ना और मूड में बदलाव ये सब तो होता रहता है, लेकिन बालों में भी बदलाव नजर आने लगता है। प्रेग्नेंसी में बालों में क्या बदलाव नजर आते हैं और उन बदलावों का कारण क्या है, यह हम विस्तार से इस लेख में बता रहे हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान बालों में बदलाव के कारण

गर्भवस्था के समय न सिर्फ महिलाओं के शरीर में बदलाव होता है, बल्कि यह बदलाव उनके बालों में भी दिखाई देता है। इस समय बालों में होने वाले बदलाव के पीछे ये कारण हो सकते हैं।

  • प्रेग्नेंसी के समय महिला के हार्मोंस में कई बदलाव होते हैं, जिससे बालों का विकास चक्र प्रभावित होता है। इस बदलाव के कारण बालों में भी बदलाव नजर आ सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को जिंक, आयरन और फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्वों की ज्यादा आवश्यकता होती है। इसकी पूर्ति न होने के कारण बालों में बदलाव आ सकते हैं।
  • इस समय हाइपोथाइरॉइडिज्म की समस्या होना काफी आम है। इस स्थिति में थायराइड हार्मोन का स्तर कम हो जाता है, जिसका असर बालों पर दिखाई दे सकता है।

गर्भावस्था के समय होने वाली बालों की समस्याएं

गर्भावस्था के समय बालों में होने वाले बदलाव के कारण कई समस्याएं हो सकते हैं। इन समस्याओं के बारे में नीचे विस्तार से बता रहे हैं।

  1. बालों का झड़ना – प्रेग्नेंसी के समय बालों का झड़ना काफी आम होता है। जानकारी के मुताबिक, इस समय अधिकतर महिलाओं के बालों को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता है, जिससे कि बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं। इसके अलावा, गर्भावस्था में थायराइड हार्मोन (Thyroid Hormone) का स्तर असंतुलित हो जाता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या हो सकती है।
  2. बालों का टूटना – अक्सर गर्भवती महिलाओं को बाल टूटने की समस्या का सामना करना पड़ता है। इस समय महिलाओं के बालों में पोषण की कमी हो जाती है। पोषण की कमी के कारण बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं।
  3. रूखा होना – प्रेग्नेंसी के समय शरीर को हाइड्रेट रखना जरूरी होता है। इस समय डिहाइड्रेशन की समस्या होने पर हेयर स्कैल्प भी अपनी नमी खो देता है, जिससे बाल जल्दी रूखे होने लगते हैं।

4. दो मुंहे होना – गर्भवस्था के समय दो मुंहे बालों की समस्या भी होती है। दरअसल, इस समय बाल रूखे और रफ हो जाते हैं। बालों के रूखे होने पर बाल दो मुंहे होने लगते हैं।

5. बालों का पतला या मोटे होना – प्रेग्नेंसी में शरीर को आयरन, फोलिक एसिड और अन्य मिनरल्स जैसे पोषक तत्वों की ज्यादा जरूरत होती है। इन पोषक तत्वों की पूर्ति न कर पाने के कारण बाल पतले हो जाते हैं। इसके अलावा, इस समय होने वाले तनाव से भी बाल पतले हो सकते हैं। साथ ही कई बार हार्मोनल बदलाव के चलते बाल सामान्य से ज्यादा मोटे हो जाते हैं।

6. बालों का सफेद होना – गर्भावस्था में बाल साफ होना भी एक परेशानी है। इस दौरान उन्हें अपनी प्रेग्नेंसी, प्रसव और होने वाले बच्चे को लेकर स्ट्रेस रहता है। जैसे-जैसे उनका तनाव बढ़ता जाता है, उनके काले बाल सफेद होने लगते हैं। इस परेशानी से बचने के लिए तनाव से दूर रहना चाहिए।

7. बालों का बेजान होना – प्रेग्नेंसी के समय महिलाएं अपने बालों की सही से देखभाल नहीं कर पाती हैं। इस वजह से उनके बालों की चमक कम हो सकती है और वो बेजान भी नजर आ सकते हैं।

महिलाओं के लंबे-घने बालों में प्रेग्नेंसी के समय कई अनचाहे बदलाव होने लगते हैं। कई बार गर्भवती महिलाएं इन बदलावों से परेशान हो जाती हैं, क्योंकि उन्हें पता नहीं होता कि ऐसा होना सामान्य है या नहीं। इसी वजह से गर्भवती महिलाओं को जागरूक करने के लिए हमने यहां प्रेग्नेंसी में होने वाले बालों के बदलाव का जिक्र किया है।

बस ध्यान दें कि प्रेग्नेंसी में बालों में होने वाले सभी बदलाव एक समय के बाद ठीक हो जाते हैं, लेकिन प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस लेने से बाल सफेद हो जाएं, तो उन्हें ठीक करना मुमकिन नहीं। बस तो प्रेग्नेंसी में चिंता को बाय कहकर हंसी और मुस्कान से दोस्ती करें। अगर डिलीवरी के बाद बाल झड़ रहे हैं, तो इस लेख को पढ़ें

like

6

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop