• Home  /  
  • Learn  /  
  • बच्चों के टैल्कम पाउडर में होने चाहिए ये 4 सर्टिफाइड ऑर्गेनिक इंडिग्रिएंट्स
बच्चों के टैल्कम पाउडर में होने चाहिए ये 4 सर्टिफाइड ऑर्गेनिक इंडिग्रिएंट्स

बच्चों के टैल्कम पाउडर में होने चाहिए ये 4 सर्टिफाइड ऑर्गेनिक इंडिग्रिएंट्स

15 Jun 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 408 Articles

बच्चों के टैल्कम पाउडर यानी बेबी पाउडर का इस्तेमाल लगभग हर पेरेंट्स करते हैं। खासतौर पर गर्मियों में बच्चों को घमौरियों और पसीने से बचाने के लिए बेबी टैल्क पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाना चाहिए या नहीं! या बेबी पाउडर में किस तरह से सामग्री होने चाहिए, जो उनकी त्वचा के लिए सुरक्षित माने जा सकते हैं! 

इन्हीं सवालों से जुड़ी जानकारी के लिए आप यह लेख पढ़ सकते हैं। बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाने या बेबी पाउडर खरीदने से पहले पेरेंट्स को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इसकी जानकारी यहां पर दी गई है। 

क्या बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाना सुरक्षित है?

बच्चों को टैल्कम पाउडर
बच्चों को टैल्कम पाउडर / चित्र स्रोतः गूगल

बेबी पाउडर यानी बेबी टैल्क पाउडर का इस्तेमाल अमूमन हर घर में बच्चे को नहलाने के बाद व डायपर बदलते वक्त किया जाता है। यह एक तरह का कॉस्मेटिक उत्पाद है। जिसे बनाने में मुख्य रूप से टैल्क यानी क्ले मिनरल, अरारोट स्टार्च व कॉर्न स्टार्च जैसी अन्य सामाग्रियों का उपयोग किया जाता है, जो सुरक्षित मानें जा सकते हैं। अगर उत्पादों में केमिकल का इस्तेमाल किया जाए, तो ऐसे मामलों में इस तरह के उत्पाद बच्चों की त्वचा व स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं। इसलिए, बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाने से पहले उनमें मिली सामग्रियों की जांच जरूर करनी चाहिए। 

बच्चे को नहलाने के लिए बेबीचक्रा के मॉइश्चराइजिंग बेबी वॉश का इस्तेमाल प्रभावी हो सकता है।

बच्चों के टैल्कम पाउडर में क्या-क्या होना चाहिए, इसकी जानकारी नीचे विस्तार से पढ़ें। 

बच्चों के टैल्कम पाउडर में क्या होना चाहिए?

रिसर्च के अनुसार, शिशुओं की नाजुक त्वचा के लिए जैतून व सूरजमुखी जैसे प्राकृतिक तेलों से बने उत्पाद का इस्तेमाल करना सुरक्षित हो सकता है। इस तरह के प्राकृतिक उत्पाद न सिर्फ बच्चों की त्वचा का ध्यान रख सकते हैं, बल्कि उनमें स्किन एक्जिमा की समस्या भी दूर कर सकते हैं।

इसी आधार पर यह कहा जा सकता है कि बच्चों के टैल्कम पाउडर खरीदने व बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाने से पहले इसकी जांच करें कि उसमें कितनी मात्रा में कौन-से प्राकृतिक तत्व हैं। अगर बच्चों के टैल्कम पाउडर या बेबी पाउडर में प्राकृतिक तेलों व अन्य प्राकृतिक सामग्रियों का मिश्रण न हो, तो उसे न खरीदना ही बेहतर हो सकता है। 

बेबी पाउडर लगाने से पहले शिशु की त्वचा को बेबी वाइप्स से साफ किया जाता है, जिसके लिए आप बेबीचक्रा की 99 प्रतिशत बैम्बू वाटर वाइप्स का प्रयोग कर सकती हैं।

बेबीचक्रा का नेचुरल बेबी टैल्क पाउडर कितना सुरक्षित है? 

जैसा लेख में रिसर्च के आधार पर यह बताया गया है कि बच्चों के लिए प्राकृतिक तेलों व सामग्रियों से बने बेबी पाउडर का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसी बात का ध्यान रखने हुए बेबीचक्रा का नेचुरल बेबी टैल्क पाउडर (BabyChakra Natural Baby’s Talc) खासतौर पर बनाया गया है। 

बेबीचक्रा के नेचुरल बेबी टैल्क पाउडर में अरारोट पाउडर के साथ ही, कैमोमाइल ऑयल, खसखस घास और रोज बटर के गुण, जो बेबी की स्किन की देखभाल में मददगार हो सकते हैं। इससे भी जरूरी बात है कि यह सर्टिफाइड ऑर्गेनिक इंडिग्रिएंट्स से बनाया गया है और इसे प्रमाणित भी किया गया है।

यहां पढ़ें बेबीचक्रा के नेचुरल बेबी टैल्क पाउडर (BabyChakra Natural Baby’s Talc) में मिले प्राकृतिक सामग्रियों के गुणः

  • अरारोट पाउडर (Arrowroot Powder) – अरारोट पाउडर का इस्तेमाल हर तरह के टैलकम पाउडर को बनाने में मुख्य रूप से किया जाता है। इसकी वजह है यह बहुत ही हल्का होता है, तो बच्चे की त्वचा से अतिरिक्त नमी को जल्दी से अवशोषित कर सकता है और त्वचा को पसीने व कीटाणुओं से सुरक्षित रख सकता है। 
  • कैमोमाइल ऑयल (Chamomile Oil) – टैलकम पाउडर में मिला कैमोमाइल तेल के गुण शिशु की त्वचा में सूजन की समस्या कम करके त्वचा को स्मूद बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। 
  • कॉर्न स्टार्च (Maize Starch) – टैल्कम पाउडर में मिला कॉर्न स्टार्च खासतौर पर डायपर रैशेज को होने से रोक सकता है और रैशेज के कारण होने वाली जलन व खुजली को भी शांत कर सकता है। 
  • रोज बटर (Rose Butter) – वहीं, रोज बटर के गुण बच्चे की नाजुक त्वचा को चिकना, मुलायम और हाइड्रेटेड रखने में मदद कर सकतें है। साथ ही, बच्चों में डायपर रैशेज से हो रही परेशानी को भी दूर कर सकते हैं। 

नोट: अगर शिशु को डायपर रैशेज हुए हैं तो बेबीचक्रा की डायपर रैशेज क्रीम का इस्तेमाल उपयोगी हो सकता है।

बेबीचक्रा के बच्चों के टैल्कम पाउडर (BabyChakra Natural Baby’s Talc) में क्या नहीं हैः

  • किसी भी तरह का विषाक्त पदार्थ और केमिकल नहीं है। 
  • सिंथेटिक सुगंध का इस्तेमाल नहीं किया गया है।
  • ग्लूटेन या पैराबेन जैसे कृत्रिम रंगों का इस्तेमाल नहीं किया गया है। यानी बेबीचक्रा का बेबी टैल्क पाउडर नेचुरल रंग का है। 

एक बात का ध्यान रखें कि बच्चों को टैल्कम पाउडर लगाया कई तरह से गुणकारी माना जा सकता है। बशर्ते कि बेबी पाउडर में मिली सामग्रियां नेचुरल हो और केमिकल फ्री हो। ऐसा होने पर बच्चों के टैल्कम पाउडर उन्हें घमौरियों के साथ ही, पसीने के कारण आने वालू बदबू और खराब डायपर से होने वाले रैशेज को भी दूर करने में मददगार हो सकते हैं।

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn

Related Topics for you

ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop