• Home  /  
  • Learn  /  
  • New Baby Nursery : 9 चीजें जो शिशु के कमरे में होनी चाहिए
New Baby Nursery : 9 चीजें जो शिशु के कमरे में होनी चाहिए

New Baby Nursery : 9 चीजें जो शिशु के कमरे में होनी चाहिए

7 Jul 2022 | 1 min Read

Vinita Pangeni

Author | 554 Articles

शिशु के पैदा होने से पहले ही माता-पिता उसकी नर्सरी (Baby Nursery) यानी शिशु के कमरे को सजाने के लिए बहुत कुछ करते हैं। अच्छे-अच्छे खिलौने, झूले, आरामदायक बिस्तर, पालना, यह सब खरीद लेते हैं। लेकिन, हम कुछ जरूरी चीजें अक्सर बच्चे के कमरे में रखना भूल जाते हैं। क्या हैं वो चीजें चलिए आगे जानते हैं।

9 चीजें जो शिशु के कमरे में होनी चाहिए – Baby Nursery Checklist in Hindi

हम सजावट और शिशु को आराम देने वाली चीजें, तो बच्चे के लिए खरीद लेते हैं। कई बार उसके स्वास्थ्य, उसकी स्किन, बाल, आदि से जुड़ी चीजें बेबी नर्सरी में रखना याद नहीं आता। इन्हीं चीजों के बारे में हम आगे बता रहे हैं। 

1. डायपर रैश क्रीम – Diaper Rash Cream

बेबी के नर्सरी में सबसे पहले तो डायपर रैश क्रीम का होना जरूरी है। डायपर पहनते-पहनते उनकी कोमल त्वचा में लाल चकत्ते होने लग जाते हैं। उनमें दर्द, शुष्कता और जलन होती है। इसी वजह से डायपर रैश को ठीक करने के लिए एक प्राकृतिक डायपर रैश क्रीम का न्यू बॉर्न बेबी के कमरे में होना जरूरी है।

यह भी पढ़ें – डायपर रैश क्रीम का चुनाव कैसे करें?

2. बेबी वाइप्स – Baby Wipes

बच्चे को दूध पिलाने के बाद उसका मुंह पोंछने के लिए और डायपर पहनाने से पहले स्किन को साफ करने के लिए बेबी वाइप्स की जरूरत पड़ती है। इसी कारण बेबी नर्सरी में हमेशा वाटर वाइप्स रखें। यह गीले वाइप्स आसानी से बच्चे की त्वचा को साफ कर देते हैं। 

बस पूरी तरह से प्राकृतिक और मुलायम बेबी वाइप्स ही खरीदें। यह और भी बेहतर होगा अगर आप बम्बू वाटर वाइप्स खरीदें। यह दूसरे वाइप्स के मुकाबले काफी सॉफ्ट होते हैं।

यह भी पढ़ें – बच्चों के लिए बेस्ट बेबी वाइप्स का चुनाव कैसे करें?

3. टमी रिलीफ रोल ऑन – Tummy Relief Roll on

कभी कॉलिक, तो कभी गैस की वजह से छोटे बच्चों के पेट में दर्द होता रहता है। ऐसे में माता-पिता को बेबी नर्सरी की किसी एक टेबल पर टमी रिलीफ रोल ऑन जरूरी रखना चाहिए। जैसे ही बच्चा बहुत देर तक रोए और आपको लगे कि उसके पेट में तकलीफ है, तो यह इसे शिशु के पेट पर लगा दें। 

इस टमी रिलीफ रोल ऑन को खास बच्चों के लिए ही बनाया जाता है, ताकि उन्हें पेट दर्द की वजह से घंटों रोना न पड़े। सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें प्राकृतिक सामग्रियां और हानिकारक केमिकल से पूरी तरह मुक्त है। 

यह भी पढ़ें – बच्चों का पेट दर्द शांत करने वाले प्राकृतिक तेल

4. बेबी पाउडर – Baby Powder 

नेचुरल और टैल्क फ्री बेबी पाउडर भी बच्चे के कमरे में रखें। बेबी पाउडर से डायपर रैशेज से राहत मिलती है और त्वचा की अतिरिक्त नमी को सोंखते हैं। यही नहीं, त्वचा की जलन को कम करने और उसे मुलायम बनाए रखने में भी टैल्क पाउडर मदद करता है।

यह भी पढ़ें – न्यूबॉर्न के लिए किस तरह का बेबी पाउडर सेफ है?

5. मॉस्किटो रिपेलेंट पैच – Mosquito Repellent Patch

नवजात शिशु की नर्सरी में मॉस्किटो रिपेलेंट पैच होना बहुत जरूरी है। नवजात के शरीर पर मच्छर रोधी क्रीम या स्प्रे लगाने की सलाह नहीं दी जाती है। ऐसे में बेबी नर्सरी में यह मॉस्किटो रिपेलेंट पैच लगाकर नवजात को मच्छरों से बचाया जा सकता है। आप जानते ही हैं कि मच्छर के काटने से बीमारियां बच्चों को होती हैं। ऐसे में मॉस्किटो रिपेलेंट पैच होना आवश्यक है।

यह भी पढ़ें – मॉस्किटो रिपेलेंट हैं बच्चों के सच्चे दोस्त मित्र

6. आफ्टर बाइट रोल ऑन – After Bite Roll on

बेबी नर्सरी की सेल्फ में ऑफ्टर बाइट रोल ऑन को भी रखें। कभी अगर बच्चे को मच्छर काट ले और उसके शरीर में मच्छर के काटने से होने वाले चकत्ते दिखे, तो आफ्टर बाइट रोल ऑन काम आएगा। यह तुरंत शिशु की त्वचा को मच्छर के काटने की वजह से दिखने वाले लक्षण से राहत देता है। जैसे कि दर्द, खुजली, चकत्तों को तुरंत ठीक करने की क्षमता यह प्राकृतिक आफ्टर बाइट रोल ऑन में है।

7. नारियल तेल – Coconut oil

बेबी नर्सरी में नारियल तेल होना बहुत आवश्यक है। आप बच्चे के स्कैल्प में होने वाले क्रेडल कैप में यह तेल लगाना अच्छा होता है। साथ ही छोटे बच्चे के शरीर के किसी भी हिस्से की त्वचा रुखी लगे, तो वहां भी नारियल तेल लगाया जा सकता है। नारियल तेल से 

यह भी पढ़ें – नारियल तेल छोटे बच्चों के बालों के लिए क्यों अच्छा है?

8. बेबी सनस्क्रीन – Baby Sunscreen

बेबी सनस्क्रीन भी बच्चे के कमरे में रखें। जब बच्चा थोड़ा बड़ा हो जाए, तो उसे बाहर लेकर जाने से पहले उसकी त्वचा पर बेबी सनस्क्रीन जरूर लगाएं। इससे बच्चे को धूप की वजह से होने वाले सनब्रन से बचाया जा सकता है। ध्यान दें कि नवजात की त्वचा पर बेबी सनस्क्रीन न लगाएं। शिशु के तीन से चार महीने के होने के बाद ही बच्चे की त्वचा पर सनस्क्रीन लगाना चाहिए। 

यह भी पढ़ें – शिशु को सनस्क्रीन लगाने का सही तरीका और उम्र

9. मॉस्किटो रिपेलेंट स्प्रे – Mosquito Repellent Spray

बच्चे के कमरे में मॉस्किटो रिपेलेंट स्प्रे भी होना चाहिए। बच्चा जब छह महीने का हो जाए, तो आप उसकी स्किन पर मॉस्किटो रिपेलेंट स्प्रे भी ला सकते हैं। चेहरे पर स्प्रे को सीधा न मारें। हाथों में मॉस्किटो रिपेलेंट स्प्रे मारे और फिर बच्चे के चेहरे पर हाथों से लगाएं।

यह भी पढ़ें – बच्चों का मॉस्किटो रिपेलेंट स्प्रे कैसा होना चाहिए?

ये हैं बेबी नर्सरी (baby nursery) में रखी जाने वाली चीजें। इन्हें बच्चे के कमरे में रखने से आप तुरंत जरूरत के समय इनका इस्तेमाल कर सकते हैं। माँ-बाप को बच्चे का रोना एक मिनट भी बर्दाश्त नहीं हो पाता है। इसी वजह से टमी रिलीफ रोल ऑन, डायपर रैश क्रीम, आदि चीजें पास होंगी, तो आप तुरंत बच्चे को उसकी परेशानियों से राहत दिलाने में मदद कर पाएंगी। 

like

0

Like

bookmark

0

Saves

whatsapp-logo

0

Shares

A

gallery
send-btn
ovulation calculator
home iconHomecommunity iconCOMMUNITY
stories iconStoriesshop icon Shop