• Home  /  
  • Learn  /  
  • 35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की संभावना और गर्भावस्था की जटिलताएं
35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की संभावना और गर्भावस्था की जटिलताएं

35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की संभावना और गर्भावस्था की जटिलताएं

28 Mar 2022 | 1 min Read

Ankita Mishra

Author | 279 Articles

फैमिली प्लानिंग के लिए कई जरूरी बातों का ध्यान रखा जाता है, जिनमें माँ बनने की सही उम्र भी शामिल है। कुछ महिलाएं जहां 20 व 30 की उम्र में फैमिली प्लानिंग शुरू कर देती हैं, वहीं कुछ महिलाएं 35 की उम्र के बाद गर्भधारण का प्लान करती हैं, खासकर कामकाजी महिलाएं। 35 की उम्र में मां बनना कितना संभव व सुरक्षित होता है, इसी की जानकारी इस लेख में दी गई है। 

इसके अलावा, 35 के बाद प्रेग्नेंसी प्लानिंग कैसे करें व बड़ी उम्र में गर्भवती होने पर मिसकैरेज का जोखिम कितना फीसदी बढ़ सकता है, इससे जुड़ी ऐसी ही अन्य अहम बातों को भी बताया गया है। 

35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की संभावना कितनी है?

20 से 30 साल की उम्र के बीच गर्भवती होने की संभावना हर महीने 25-30% तक हो सकती है। वहीं, 30 की उम्र के बाद महिलाओं की फर्टिलिटी करने की क्षमता घटने लग सकती है, जो 35 वर्ष तक और भी अधिक घट सकती है और 40 की उम्र तक माँ बनने की सफल संभावना 5% तक भी घट सकती है। ऐसे में यह माना जा सकता है 35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की संभावना सामान्य से कहीं न कहीं कम आंकी जा सकती है। 

हालांकि, अगर कोई महिला 35 की उम्र के बाद गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं, तो वे ऐसा कर सकती हैं। इसके लिए उन्हें शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता हो सकती है, जो 35 की उम्र में मां बनना 50% तक सफल बना सकते हैं। 

35 की उम्र के बाद गर्भवती होने के खतरे क्या हैं?

अगर 35 के बाद प्रेग्नेंसी प्लानिंग करना चाहती हैं, तो 35 की उम्र के बाद गर्भवती होने के खतरे भी अधिक हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हैंः

35 की उम्र के बाद गर्भधारण
35 की उम्र के बाद गर्भधारण / चित्र स्रोतः फ्रीपिक
  • माँ को हाई ब्लड प्रेशर होना
  • गर्भकालीन मधुमेह होना
  • अस्थानिक गर्भावस्था यानी एक्टोपिक प्रेग्नेंसी जैसी स्थितियां गर्भावस्था की जटिलताएं बन सकती है।
  • 35 या उससे बड़ी उम्र में गर्भवती होने पर मिसकैरेज यानी गर्भपात होने की संभावना अधिक हो सकती है।
  • समय से पहले शिशु का जन्म होना
  • जन्म के दौरान शिशु की मृत्यु होना
  • क्रोमोसोमल असामान्यताएं जैसे जेनेटिक डिसऑर्डर हो सकते हैं, जिनसे बच्चा बौना हो सकता है।
  • 35 की उम्र के बाद गर्भवती होने के खतरे गर्भनाल का गर्भाशय ग्रीवा पर लिपट जाने के जोखिम को बढ़ा सकता है।
  • नॉर्मल डिलीवरी में परेशानी हो सकती है।
  • जेस्टेशनल ट्रोफोब्लास्टिक (Gestational Trophoblastic) रोग का खतरा बढ़ सकता है। यह गर्भाशय में होने वाला एक दुर्लभ ट्यूमर होता है।
  • 35 साल के बाद प्रेग्नेंट होने के खतरे माँ में हृदय स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं उत्पन्न कर सकती है।
  • शिशु को डाउन सिंड्रोम होने का जोखिम हो सकता है। यह एक जेनेटिक डिसऑर्डर है। इससे ग्रस्त बच्चे का शारीरिक व मानसिक विकास देरी से हो सकता है या नहीं भी हो सकता है।

मां बनने की सही उम्र क्या है?

एक तरह से देखा जाए, अगर महिला शारीरिक व मानसिक तौर पर पूरी तरह से स्वस्थ है, तो यही उसके गर्भधारण की सही उम्र माना जा सकता है। वहीं, विशेषज्ञों के अनुसार, 20 से 35 साल के बीच की उम्र प्रेग्नेंसी कंसीव करने के लिए सही उम्र हो सकती है। ऐसा क्यों यह नीचे बताए बिंदुओं से समझ सकती हैंः 

  • इस उम्र के बीच शरीर परिपक्व हो चुका रहता है। इस वजह से इस उम्र में गर्भधारण के लिए महिला का शरीर अधिक स्वस्थ व सक्षम चरण में होता है। इसी वजह से सिंगल प्रेग्नेंसी के साथ ही मल्टीपल प्रेग्नेंसी भी अधिक सफल हो सकती है। 
  • इस दौरान अंडें अधिक स्वस्थ और मैच्योर होते हैं। 
  • बढ़ती उम्र के साथ बॉडी मास इंडेक्स भी बढ़ने लगता है, जिसकी वजह से महिलाओं को ज्यादा उम्र में गर्भवती होने पर मिसकैरेज या गर्भधारण से जुड़ी अन्य जोखिम होने की संभावना बढ़ सकती है।
  • बढ़ती उम्र के चरणों में महिला के शरीर में क्रोमोसोमल एब्नार्मेलिटी का खतरा अधिक हो सकता है। यह एक तरह की ऐसी एब्नार्मेलिटी है, जो बच्चों में बौनेपन का कारण बन सकती है। 
  • एक से अधिक बार गर्भाधारण किया जा सकता है। 

महिलाएं कितनी उम्र तक मां बन सकती है?

आज के समय में आईवीएफ व डोनर जैसे कई तकनीक हैं, जिन्होंने किसी भी उम्र में गर्भधारण की प्रक्रिया को सफल व सुरक्षित बना दिया है। हालांकि, प्राकृतिक तौर पर माँ बनने की सही उम्र 40 वर्ष से पहले तक की मानी जा सकती है, क्योंकि इस दौरान महिला के गर्भ में अंड़ों के परिपक्व होने की संभावना अधिक बनी रहती है।  

35 वर्ष की आयु के बाद गर्भवती होने का प्रयास करना है, तो इन बातों का ध्यान रखें

35 की उम्र के बाद गर्भधारण
35 की उम्र में मां बनना / चित्र स्रोतः फ्रीपिक
  1. हेल्दी डाइट – प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं। हेल्दी डाइट फॉलों करें। इसके लिए फर्टिलीटी बढ़ाने वाली डाइट भी फॉलो कर सकती हैं। 
  1. धूम्रपान व अल्कोहल छोड़ना – धूम्रपान व अल्कोहल के सेवन से दूर रहना
  1. डॉक्टर की सलाह – 35 के बाद प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने से पहले डॉक्टर की उचित सलाह लेना और गर्भधारण करने के बाद नियमित समय पर डॉक्टर से चेकअप कराते रहना।
  1. व्यायाम करना – स्वस्थ व संतुलित आहार के साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करें। व्यायाम की दिनचर्या न सिर्फ शरीर को फिट रख सकता है, हृदय से जुड़े जोखिम भी कम कर सकता है।
  1. सप्लीमेंट लेना – 35 या उससे बड़ी उम्र में गर्भवती होने पर मिसकैरेज के जोखिम को कम करने के लिए डॉक्टर की सलाह पर संपूर्ण स्वास्थ्य के अनुसार, सप्लीमेंट भी ले सकती हैं। सप्लीमेंट न सिर्फ अंडों को परिपक्व बना सकते हैं, बल्कि शारीरिक कमजोरी को भी दूर कर सकते हैं। 

35 की उम्र के बाद गर्भधारण करना थोड़ा मुश्किलों से भरा हो सकता है, लेकिन अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही, मानसिक स्वास्थ्य की भी उचित देखभाल की जाए, तो 35 की उम्र के बाद मां बनना पूरी तरह से सफल हो सकता है।

Home - daily HomeArtboard Community Articles Stories Shop Shop